Ghazipur live news

अमरनाथ यात्रा पर मौसम की मार, अबतक 14 श्रद्धालुओं की मौत

amarnath-yatra

श्रीनगर। अमरनाथ यात्रा पर गए दो और 2 श्रद्धालुओं की मौत हो गई। अभी तक इस यात्रा में 14 लोगों की मौत हो चुकी है। हैदराबाद की श्रद्धालु लक्ष्मी बाई को गंदरबाल जिले में हार्ट अटैक होने से मौत हो गई। उनकी बॉडी को जम्मू कश्मीर बेस कैंप हॉस्पिटल में रखा गया है। वहीं आंध्र प्रदेश के रविंद्र नाथ की तबीयत बिगड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। रविवार को इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। इससे पहले 3 जुलाई को तीन अमरनाथ यात्रियों की मौत हो गई थी । तीन श्रद्धालुओं की मौत अलग-अलग कारणों से हुई थी। पुलिस ने बताया कि उत्तर कश्मीर के बलटाल शिविर में आंध्र प्रदेश के दो निवासी थोटा रधनाम और राधाकृष्ण शास्त्री की हार्ट अटैक से मौत हो गई। वहीं बलटाल से ट्रैकिंग कर पवित्र गुफा जाते समय एक पत्थर से टकराने से उत्तराखंड के पुष्कर ने दम तोड़ दिया । इससे पहले सीमा सुरक्षा बल के एक कर्मी, एक स्थानीय सहायक और दूसरे राज्य के एक स्वयंसेवी की भी यात्रा के दौरान प्राकृतिक कारणों से मौत हो चुकी है।

सड़क हादसे में घायल हुए थे लोग

गौरतलब है कि 30 जून को इससे पहले 30 जून को सड़क हादसे में तीन अमरनाथ श्रद्धालु घायल हो गए । गांदरबल जिले में शनिवार को सड़क दुर्घटना में अमरनाथ यात्रा पर जा रहे तीन श्रद्धालु घायल हो गए। तीनों घायल यात्री राजेश कुमार, मनेश कुमार और करण अग्रवाल पंजाब के भटिंडा के रहने वाले हैं। जिले के सुंबाल इलाके में उनकी कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई । घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मौसम खराब के चलते यात्रा रुकी

खराब मौसम के चलते 8 जुलाई को भी अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी गई। जम्मू बेस शिविर से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा पिछले कई दिनों से लगातार स्थगित की जा रही है। तीर्थयात्रियों ने इस बारे में कहा कि उन्हें अधिकारियों की तरफ से ये सूचना मिली है कि इसके पीछे का कारण खराब मौसम है। तीर्थयात्रियों ने अपनी मायूसी जताते हुए कहा कि वे 3-4 दिनों से आगे बढ़ने का इंतजार कर रहे हैं लेकिन उन्हें अभी तक टिकट जारी नहीं किया गया है। सुरक्षा अधिकारियों ने मौसम साफ होने तक रुकने के आदेश दिए हैं।