Ghazipur live news

ओपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने पर सियासत गरमाई, सपाईयों में उबाल

op-singh-fir

गाजीपुर। दो साल बाद सपा के पूर्व कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश सिंह समेत तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने के बाद जिले की सियासत गरमा गई है। सपा कार्यकर्ता इसे राजनीतिक रूप देने में जुटे हैं तो भाजपा कार्यकर्ता इसे योगी सरकार में न्याय की बात कर रहे हैं। वैसे तो देखा जाए तो पूर्व मंत्री के खिलाफ कोई पहली बार मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है। ब्लाक प्रमुख चुनाव में बीडीसी सदस्य को धमकाने से लेकर और किसी न किसी मामले में सुर्खियों में रहते हैं।

गौरतलब हो कि सेवराई गांव निवासी डा. वशिष्ट नरायण 26 अप्रैल 2016 को आरोप लगाया था कि मेरी निजी जमीन पर कब्जा कर चकरोड बनाया जा रहा था। इसकी जानकारी जब मुझे हुई तो विरोध किया। इस पर पूर्व मंत्री व उनके समर्थक मारपीट किए। इतना ही नहीं उल्टे मुकदमा दर्ज कराकर मुझे जेल भेजवा दिए। सत्ता होने के कारण कोई भी अधिकारी मेरी सुनने को तैयार नहीं था। निजाम बदला तो वशिष्ट नरायण को न्याय की उम्मीद जगी।

उन्होंने राष्ट्रपति, डीजीपी व मानवाधिकार आयोग से शिकायत किए। पीड़ित के प्रार्थना पत्र को संज्ञान में लेते हुए डीजीपी ने गहमर पुलिस को मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिया। आनन-फानन आठ फरवरी को पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह, ठेकेदार जावेद व अनिल सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।