Ghazipur live news

ग्राम पंचायतों पर पेयजल एवं स्वच्छता से सम्बन्धित सभी गतिविधियों की जिम्मेदारी- सीडीओ

cdo-ghazipur

गाजीपुर। मुख्य विकास अधिकारी हरिकेश चौरसिया ने विकास भवन सभागार में विश्व बैंक, भारत सरकार एवं उत्तर प्रदेश सरकारद्वारा सहायतित ग्रामीण पेयजल आपूर्ति एवं स्वच्छता कार्यक्रम तथा नीरनिर्मल परियोजना के अन्तर्गत जनपद स्तरीय वित्तीय प्रबन्धन विधयक एक दिवसीय कार्यशाला/प्रशिक्षण का आयोजन सम्पन्न किया गया।

मुख्य विकास अधिकारी ने ग्राम पंचायत पेयजल एवं स्वच्छता समिति के कार्यएवं दायित्व के बारे में बताया कि ग्राम पंचायत स्तर पर पेयजल एवं स्वच्छता से सम्बन्धित सभी गतिविधियों की जिम्मेदारी रहेगी पयेजल एंव स्वच्छता क्षेत्र से सम्बन्धित नीति, कार्यक्रम तथा परियोजना से जुड़े स्वास्थ्य, स्वच्छता तथा श्रोत निरन्तरता सम्बन्धी मुद्दों से सामुदाय को जागरूक कराना, बैंक में निर्धारित खाते खोलना लाभार्थियों से परियोजना के अन्तर्गत प्राविधानित अंशदान लागत 450 रू0 सामान्य परिवार के लिए 225 रूपये एस0सी0/एस0टी00/बी0पी0एल0 परिवार तथा रख-रखाव लागत न्यूनतम रूपये 50 रू0 प्रति परिवार प्रातमाह जमा करवाना, योजना के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यो में सहयोग प्रदान करना, समस्त गतिविधियों की निगरानी करना, आवश्यकता के अनुसार जल शुल्क, निर्धारित करना, ग्राम पंचायत के सभी मजरों/परिवारों को योजना से लाभान्वित होना सुनिश्चित करना, जी.पी.डब्ल्यू एस.सी. योजना के संचालन हेतु सम्बन्धित योजनाओ पर निर्णय लेने हेतु निरन्तर बैठक सुनिश्चित करायी जाय।

नीर निर्मल परियोजना में बताया कि प्रत्येक ग्राम पंचायतो मे ग्राम पंचायत पेयजल स्वच्छता-समिति का गठन किया जाना है जिसमें समिति का अध्यक्ष ग्राम पंचायत का प्रधान होगा ग्राम पंचायत का सचिव ग्राम पंचायत पेयजल स्वच्छता समिति का सचिव होगा एक अन्य पिछड़ा वर्ग का सदस्य, एक अनु0जाति/अनु0ज0जाति का सदस्य, एक महिला सदस्य, तथा कम से कम दो अन्य सदस्य ग्राम पंचायत द्वारा उक्त समिति में नामित होगे।