Ghazipur live news

छात्रों के जुलूस से चरमराई यातायात व्यवस्था, घंटो जाम से कराह उठे बूढ़े, बच्चे और मरीज

ghazipur-jaam

गाजीपुर। छात्र संघ का चुनाव चरम पर है। दर्जनों छात्र नेता नामांकन में सैकड़ो वाहनों के काफिले के साथ नामांकन करने पूरे नगर का चक्रमण करते पहुंचे। कई किलोमीटर लम्बे काफिलों के चलते पूरा शहर देखते ही देखते चोक हो गया। वाहनों के पहिये थम गए, जिसमे स्कूल वाहन समेत कई एम्बुलेंस जाम में फस गए। चिलचिलाती धुप में भूख से बच्चे बिलबिला उठे पर गिनती के यातायात कर्मियों के लाख जतन के बावजूद पंडालों के कारण पहले ही सकरी हो चुकी सड़क को जाम से निजाद नहीं दिला सके। कई घंटो बाद जाम समाप्त हो सका। जाम के कारण कचहरी, महुआबाग, लंका, मिश्रबाजार, लालदरवाजा और पांच रास्ता सबसे ज्यादा प्रभावित रहे। लोगो का मानना है कि यदि प्रशासन ने छात्रों के काफिलों पर लगाम नहीं लगाया तो छात्र संघ चुनाव तक शहर कि यही दशा रहनी है।

school-student-auto

कालेजों में शुरू हुआ नामांकन

पीजी कालेज व स्वामी सहजानंद डिग्री कालेज में सुबह दस बजे से नामांकन शुरू हुआ तो छात्र नेता जगह-जगह से लग्जरी वाहनों के साथ जुलूस निकालने लगे। महुआबाग में सड़क पर दुर्गा पूजा पंडाल बनने व लग्जरी वाहनों के काफिले के चलते जाम लग गया। इसी बीच राजकीय बालिका इंटर कालेज व आदर्श इंटर कालेज की छुट्टी हो गई। लग्जरी वाहनों के काफिले व बच्चों के भीड़ के चलते भीषण जाम लग गया। जाम कुछ ही देर में इतना गहरा गया कि पैदल भी निकलना मुश्किल हो गया। लोग लोगों को सौ मीटर की दूरी तय करने में एक घंटे का समय लग गया। कुछ ऐसा ही हाल विशेश्वरगंज, सकलेनाबाद, लंका, कचहरी रोड, सिचाई विभाग चौराहा, गोराबाजार व मिश्रबाजार का था। जुलूस के चलते यहां के वाशिंदे व राहगीर घंटों जाम में फंसकर छात्रों को कोसते रहे।

chatra-sangh-ghazipur

कराह उठे मरीज

जिला अस्पताल के गोराबाजार स्थानांतरित होने का खामियाजा आज मरीजों को भुगतना पड़ा क्योकि पीजी कालेज तथा सहजानंद में नामांकन होने के कारण प्रशासन ने मार्ग परिवर्तित कर दिए थे। जिससे मरीजों को काफी घूम के जाना पड़ रहा था। जबकि जाम लगने के बाद उनका पैदल निकलना भी दुश्वार हो गया था।