Ghazipur live news

रातोंरात मकबरा बन गया शिवालय, अंदर स्थापित की गईं शिव की मूर्तियां

tomb_shivalay

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में एक ऐसा मामला सामने आया है, जो चर्चा का विषय बन गया है। बताया जा रहा है कि दक्षिणी दिल्ली में एक मकबरा रातोंरात शिवालय बन गया और उसके अंदर शिव की मूर्ति को स्थापित कर दिया गया है। लेकिन, सबसे चौंकाने वाली बात ये है कि यह काम मार्च महीने में हुआ, लेकिन इसका खुलासा अब हुआ है। इतना ही नहीं मकबरे को गेरुए रंग से पेंट भी कर दिया गया है।

सफदरजंग एनक्लेव में स्थित है मकबरा

जानकारी के मुताबिक, दक्षिणी दिल्ली के सफदरजंग स्थित हुमायूंपुर गांव में यह मकबरा तुगलक शासनकाल में बनाया गया था। कंकरीट के जंगल कहे जाने वाले इस गांव में इमारतों और पार्क के बीच बना यह मकबरा दिल्ली पर्यटन विभाग के स्मारकों में भी लिस्टेड है। लोगों के मुताबिक, मार्च महीने में कुछ लोग आए और रातोंरात इस मकबरे को गेरूए रंग में रंग दिया और इसके अंदर मूर्तियां भी रख दी। इस घटना के बाद पूरे इलाके में हहाकार मच गया। हालांकि, इस बात का अब तक खुलासा नहीं हो पाया कि ऐसा करने वाले कौन लोग थे।

मकबरा दिल्ली पर्यटन विभाग के स्मारकों की लिस्ट में शामिल

एक अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक, इंडियन नेशनल ट्रस्ट फॉर आर्ट एंड कल्चरल हेरिटेज (इंटैक) के सहयोग से पुरातात्विक विभाग को इस मकबरे का नवीकरण करना था। लेकिन, स्थानीय लोगों के विरोध के कारण मकबरे के जीर्णोद्धार का काम शुरू न हो सका। बता दें कि यह मकबरा दिल्ली पर्यटन विभाग के स्मारकों में भी लिस्टेड है।

बेंच पर लिखा है भाजपा काउंसलर का नाम

इधर, इस मामले को लेकर स्थानीय लोगों का कहना है कि हम पुलिस के पास भी गए थे। लेकिन, कोई कार्रवाई नहीं हुई। अब यह मकबरा एक मंदिर बन गया और हमने एक स्मारक खो दिया है। इस स्मारक के पास दो गेरुआ रंग की दो बैठने की बेंच लगा दी गई है, जिसपर भाजपा काउंसलर राधिका एबरोल फोगाट का नाम लिखा है। वहीं, फोगाट से जब इस मामले में बात किया गया तो उनका कहना था कि स्मारक को बिना मेरी जानकारी के मंदिर में बदल दिया गया है। उन्होंने कहा कि शायद यह पूर्व भाजपा काउंसलर का काम है। वहीं, दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि मुझे इस बारे में कोई सूचना नहीं है। उन्होंने कहा कि मैंने विभाग से जांच करने और रिपोर्ट भेजने की बात फिलहाल ही है।