Ghazipur live news

वायरल वीडियो झुठला रहा हर्ष फायरिंग, पहली गोली मिस होने पर दोबारा टारगेट

harsh-firing-ghazipur

लखीमपुर। नीमगांव क्षेत्र के रामपुर गांव में रविवार रात हर्ष फायङ्क्षरग में दूल्हे की मौत हत्या या हादसा के बीच बुरी तरह से उलझ गई है। मौके का वायरल वीडियो हत्या का संदेह उत्पन्न कर रहा है। परिवारीजन भी यही आरोप लगा रहे हैं। हालांकि, हत्या का मोटिव अभी तक स्पष्ट नहीं है। पुलिस इसे हादसा मान आरोपित के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर उसे जेल भेज दिया है।

रामपुर गांव में रविवार रात रविंद्र वर्मा की पुत्री रूबी वर्मा की बरात में द्वारपूजन के दौरान गोली लगने से दूल्हा सुनील वर्मा उर्फ सोनू पुत्र राधेश्याम निवासी हाजीपुर, सीतापुर की मौत हो गई थी। गोली सुनील के दोस्त रामचंद्र की लाइसेंसी रिवाल्वर से चली। वीडियो में दिख रहा है कि रिवाल्वर की नाल सीधे दूल्हे की तरफ है। राधेश्याम हत्या का आरोप लगाते हुए कहते हैं कि रामचंद्र से ये उम्मीद नहीं थी।

रामचंद्र का सीतापुर के इमलिया-कचनार में मेडिकल स्टोर है, जबकि सुनील एमआर होने के चलते उसके यहां दवाइयां सप्लाई करता था। इसी के चलते दोनों में दोस्ती थी। रामचंद्र के बड़े भाई की ससुराल सोनू के गांव हाजीपुर में है। राधेश्याम ने रामचंद्र के एक साले को भी दोषी ठहराया है। वहीं, पुलिस ने मंगलवार को दोपहर बाद रामचंद्र को सीतापुर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इंस्पेक्टर शमशेर बहादुर सिंह का कहना है कि गोली चल जाने से दूल्हे की मौत हुई है और आरोपित ने भी गलती से गोली चलने की बात स्वीकार की है।

एएसपी घनश्याम चौरसिया के मुताबिक वीडियो में जरूर ये हर्ष फायङ्क्षरग नहीं दिख रही लेकिन, इसके दो वायरल वीडियो हैं, पहले के वीडियो में कारतूस लोड करते वक्त जो दिख रहा है उससे साफ मालूम चल रहा है कि ये शौकिया लाइसेंसी है। अभी विवेचना जारी है। वायरल वीडियो पर एक्सपर्ट की राय भी ली जा रही है। साक्ष्य मिलते ही इसमें संबंधित फेरबदल व कार्रवाई की जाएगी। लेकिन, दूल्हे के परिवारीजन पुलिस की इस कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। मृतक के छोटे भाई श्यामबिहारी ने बताया कि उसके भाई की हत्या की गई है, लेकिन पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज न करके केस को कमजोर कर दिया।