Ghazipur live news

सामूहिक दुष्कर्म पीड़िता ने नदी में लगाई छलांग, दूसरे दिन मिला शव

gang-rape-suicide

जालौन। उरई में दस अगस्त को घर में हुए सामूहिक दुष्कर्म से आहत पीडि़ता ने कल बर्रा के मेहरबान सिंह का पुरवा में पुल से पांडु नदी में छलांग लगा दी। गोताखोर खोजने में जुटे रहे लेकिन सफलता नहीं मिली। आज पीएसी के गोताखोरों को करीब आधा किलोमीटर दूर नदी में उसका शव मिला है। मूल रूप से जालौन निवासी किशोरी पांच दिन पहले तात्याटोपे नगर निवासी चाचा के घर पिता के साथ आई थी।

घर के दरवाजे पर बैठी किशोरी अचानक किसी को बिना बताए कल निकल गई। घर से कुछ दूर स्थित पांडु नदी में उसके छलांग लगाने पर लोगों ने शोर मचाया तो परिवार के लोगों को इस प्रकरण की जानकारी हुई। किशोरी के नदी में छलांग लगाने की सूचना पर पहुंची पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कराई। बहाव इतना तेज था कि पुलिस लाइन से पहुंचे तीन गोताखोरों को नदी में उतरने से पहले कमर में रस्सी बांधनी पड़ी। काफी दूर तक तलाश की लेकिन किशोरी को नहीं ढूंढ पाए।

आज सुबह सुबह दो नाव व पीएसी के गोताखोर लगाकर तलाश शुरू कराई गई। घटनास्थल से करीब आधा किमी दूर पुलिया के पास उसका शव गोताखोरों ने बरामद कर लिया। नदी से शव बाहर आते ही परिवार के लोगों में कोहराम मच गय। इंस्पेक्टर बर्रा रवि श्रीवास्तव ने बताया कि नदी में डूबी किशोरी की तलाश में 15 गोताखोर लगाए गए थे। दुष्कर्म की घटना से आहत होकर किशोरी के यह कदम उठाने की बात पता चली है।