बाहुबली मुख्तार के करीबियों पर फिर गिरी गाज

बाहुबली मुख्तार के करीबियों पर फिर गिरी गाज

मऊ : मुख्तार अंसारी के करीबियों पर शिकंजा तेजी से कस रहा है। एसपी अनुराग आर्य ने मुख्तार अंसारी के गिरोह के नजदीकी पांच अपराधियों के शस्त्र लाइसेंस को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया है। गिरोह के तीन सहयोगियों को जिला बदर किया गया है। एसपी की इस कार्रवाई से जिले में खलबली मच गयी है। मन्ना सिंह हत्याकांड में मुख्तार अंसारी के साथ सह अभियुक्त रजनीश सिंह उर्फ सूर्यनाथ सिंह निवासी परदहां शहर कोतवाली का शस्त्र लाइसेंस को निरस्त किया गया है। इसी क्रम में डी-16 गिरोह के लीडर अंकुर राय से संबंधित प्रवीण कुमार राय के दो शस्त्र लाइसेंस रिवाल्वर व एसबीबीएल को निरस्त किया गया। इसी क्रम में अंकुर राय के परिजन गिरिजा राय निवासी सहरोज का एक लाइसेंस निरस्त किया गया है। इसके साथ ही अवैध वसूली गैंग के मानधाता शुक्ला का भी शस्त्र लाइसेंस निरस्त किया गया है। इस प्रकार अब तक कुल 20 शस्त्र लाइसेंस निलम्बित हो चुके हैं, जो सभी थानों पर जमा कराये जा चुके हैं। इनमें 13 निरस्त हो चुके हैं। इसी क्रम में मुख्तार अंसारी गिरोह के तीन सहयोगियों को जिला बदर करने की कार्रवाई की गयी है। इसमें अभियुक्त अनीस निवासी मदनपुरा थाना दक्षिणटोला के ऊपर गैंगेस्टर एक्ट सहित पांच अभियोग पंजीकृत हैं। अभियुक्त अल्तमस सभासद निवासी अस्तूपुरा के ऊपर भी गैंगेस्टर एक्ट सहित गम्भीर धाराओं में पांच अभियोग पंजीकृत हैं। इन्हें जिलाधिकारी द्वारा छह माह के लिए जिला बदर किया गया है। दोनों अभियुक्तों ने दिसम्बर माह में सीएए विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा व लूटपाट में मुख्य भूमिका निभाई थी। इसी प्रकार मुख्तार अंसारी गिरोह के सहयोगी अजीत सिंह निवासी मुहम्मदाबाद के सक्रिय सदस्य मोहर सिंह निवासी भदीड़ को जिला बदर किया गया है। इसके ऊपर हत्या, गैंगेस्टर एक्ट के तहत कुल 14 अभियोग पंजीकृत हैं।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *