एमएलसी विशाल सिंह चंचल की पैरवी, मुख्यमंत्री ने दी स्वीकृति

एमएलसी विशाल सिंह चंचल की पैरवी, मुख्यमंत्री ने दी स्वीकृति

गाजीपुर। एमएलसी विशाल सिंह चंचल की पहल पर कासिमाबाद-पारा मार्ग का नामकरण शहीद शशांक के नाम पर किये जाने को मुख्यमंत्री ने स्वीकृति दे दी है। इस प्रशंसनीय कार्य का श्रेय सीधे एमएलसी विशाल सिंह चंचल को जाता है, क्योंकि उन्होंने ने ही शहीद के नाम पर मार्ग का नामकरण किए जाने की पैरवी की थी। इससे एमएलसी चंचल ने सीएम को अवगत कराया था कि इस मार्ग के नामकरण में कोई व्यवधान नहीं है। शहीद की स्मृति में 18.2 किलोमीटर के कासिमाबाद-पारा मार्ग का नामकरण जो कि काफी समय से लंबित पड़ा है, जिसे स्वीकृति दी जाय। कासिमाबाद के नसीरुद्दीनपुर गांव के रहने वाले शशांक कुमार सिंह की कश्मीर के कुपवाड़ा में शहीद हो गये थे। इसके बाद उनके नाम से मार्ग का नामंकरण किये जाने की बात कही गयी थी। जहां नवंबर 2016 से इस मार्ग के नामकरण का मसला उठता चला आ रहा है, लेकिन काफी दिन बीत जाने के बाद भी इसपर ध्यान नहीं दिया जा रहा था। इससे शहीद के परिजनों सहित ग्रामीणों में काफी निराशा हो गयी थी। फिर शहीद के परिजनों व ग्रामीणों ने इस मामले को लेकर एमएलसी विशाल सिंह चंचल से मिलने का मन गया। जहां एमएलसी से मिलकर उनसे पूरी बात शहीद के परिजनों व ग्रामीणों ने बतायाी। इसपर एमएलसी विशाल सिंह चंचल ने काफी गंभीरता से लिया और फिर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर मांग से उन्हें अवगत कराया। साथ ही इससे जुड़े सभी दस्तावेज भी उन्हें दिखाया गया और मार्ग को शहीद शशांक कुमार सिंह के नामकरण किये जाने की पैरवी की गयी। पूरे मामले से अवगत होने के बाद मुख्यमंत्री ने शहीद परिजनों की भावनाओं व ग्रामीणों की मांग को देखते हुए इसे स्वीकृति दे दी। एमएलसी का प्रयास आखिरकार रंग लाया। उन्होंने शहीद के परिजनों को पूरा भरोसा दिलाया था कि नामकरण मुख्यमंत्री से स्वीकृत करा दिया जायेगा। इसे मुख्यमंत्री ने 22 अगस्त को ट्विट कर बताया दिया कि शहीद शशांक कुमार सिंह की वीरता को नमन करते हुए कासिमाबाद-पारा मार्ग का नामकरण ‘शहीद शशांक कुमार सिंह मार्ग’ रखा जाये। इसकी स्वीकृति दे दी गयी है। इस मार्ग का नामंकरण किये जाने की जानकारी होने पर शहीद के परिजनों व ग्रामीणों में काफी प्रसन्ता है। सभी ने एमएलसी विशाल सिंह चंचल के इस कार्य की काफी सराहना की है। यह भी कहा जा रहा है कि एमएलसी विशाल सिंह चंचल ने शहीद के परिजनों का मनोबल और शहीद के गांव का भी मान बढ़ाया है।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *