हिंदी का प्रयोग हिंदी दिवस तक ही सीमित ना रखें

हिंदी का प्रयोग हिंदी दिवस तक ही सीमित ना रखें

गाजीपुर। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की ओर से शनिवार शाम क्षेत्रीय कार्यालय के सभागार में हिंदी दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत हिन्दी में उत्कृष्ट कार्य करने वाली शाखाओं व स्टाफ सदस्यों को सम्मानित किया गया। समारोह के दौरान सर्वप्रथम हिंदी संदर्भ साहित्य पत्रिका का विमोचन किया गया। इसके बाद कार्यक्रम को संबोधन में क्षेत्र प्रमुख रंजीत सिंह ने यह बताया कि हिन्दी राजभाषा और मातृभाषा दोनों ही है। अत: राजभाषा हिन्दी का कार्यान्वयन, इसका सम्मान, विकास, प्रचार-प्रसार और इससे संबंधित लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहयोग प्रदान करना हम सभी का नैतिक कर्तव्य है। साथ ही उन्होंने उपस्थित सभी से आग्रह किया कि वह अपने कार्यालय या शाखा में हिंदी का अधिक से अधिक प्रयोग करें। शाखाओं के कामकाज में हिन्दी भाषा के प्रयोग के महत्व के बारे में कहा कि हमारे क्षेत्र में हिन्दी हमारी जरूरत है और इसके बिना हम उत्तम ग्राहक सेवा नहीं प्रदान सकते हैं। गाजीपुर क्षेत्र के राजभाषा प्रभारी किशोर कुमार ने सभी से आग्रह किया कि हिंदी का प्रयोग हिंदी दिवस तक ही सीमित ना रखें, बल्कि वर्ष का प्रत्येक दिन हिंदी दिवस के रूप में मनाना चाहिए। इसके पूर्व वर्ष 2019-20 के दौरान हिंदी के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली शाखाओं व कर्मचारियों को पुरस्कृत किया गया। इसमें पदुमपुर रामराई, तुलापट्टी, कचहरी रोड, सादात मुख्य आदि शाखाएं शामिल रहीं। इसके पश्चात 15 अगस्त से 14 सितंबर तक मनाए गए हिंदी माह के दौरान आयोजित प्रतियोगिताओं में विजयी कुल 36 प्रतिभागियों को क्षेत्र प्रमुख रंजीत सिंह ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। समारोह में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के गाजीपुर क्षेत्र के प्रमुख रंजीत सिंह, मुख्य प्रबंधक रमेश, संजय कुमार, केआर मीणा, अग्रणी जिला प्रबंधक सूरजकांत,सुशान्त श्रीवास्तव भी  जिले के विभिन्न शाखाओं में कार्यरत अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन राजभाषा अधिकारी किशोर ने किया। अंत में उपस्थित सभी के द्वारा कार्यालय के अधिकांश कार्य हिंदी में किए जाने के संकल्प के साथ समारोह संपन्न हुआ।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *