सपाइयों से पुलिस की झड़प, सरकार पर साधा निशाना

सपाइयों से पुलिस की झड़प, सरकार पर साधा निशाना

गाजीपुर। केन्द्र सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हु़ए जिलाधिकारी को पत्रक देने जा रहे सपा नेताओं व पुलिस के बीच धक्का-मुक्की हुई। कार्यकर्ताओं को रोके जाने से आक्रोशित कार्यकर्ता बंशी बाजार स्थित एनएच-29 पर ही बैठकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन करने लगे। सदर एसडीएम प्रभास कुमार मौके पर पहुंचकर संबंधित पत्रक लिए तब जाकर कार्यकर्ता शांत हुए। तहसीलों पर भी सपा का प्रदर्शन हुआ। बंशी बाजार स्थित लोहिया भवन कार्यालय पर 11 बजे तक बड़ी संख्या में सपाई जुट गए। इन्हें जुलूस की शक्ल में ज्ञापन देने जाने से रोकने के लिए एक तरफ जहां कार्यालय का मुख्य गेट पुलिस छावनी में तब्दील था, वहीं कचहरी स्थित जिलाधिकारी कार्यालय के आसपास कई स्थानों पर बैरीकेडिग की गई थी। करीब पौने 12 बजे पूर्व सांसद राधेमोहन के साथ सैकड़ों सपाजन हाथों में झंडा लिए नारेबाजी करते हुए कार्यालय से निकले। वह मुख्य गेट की तरफ बढ़े तो पुलिस उन्हें रोकने लगी। ऐसे में पुलिस और सपाइयों में झड़प शुरू हो गई, लेकिन सपाई किसी भी हाल में पीछे हटने को तैयार नहीं थे। वह पुलिस से धक्का-मुक्की और नारेबाजी करते हुए सड़क की तरफ बढ़े। पुलिस ने बलपूर्वक रोकना चाहा तो कार्यकर्ता गाजीपुर-वाराणसी मार्ग पर बैठकर नारेबाजी करन लगे। सपाइयों ने विरोध में काले गुब्बारे भी उड़ाए। करीब एक घंटा बाद सदर एसडीएम प्रभास कुमार वहां पहुंचे, लेकिन कार्यकर्ता डीएम को बुलाने से कुछ कम पर मानने को तैयार नहीं थे। पूर्व सांसद राधेमोहन सिंह ने कार्यकर्ताओं को जिलाध्यक्ष की बात मानने की नसीहत दी तब जाकर उनके तेवर नरम पड़े। इसके बाद सीओ सिटी पीयूष चावला के समझाने पर एसडीएम को पत्रक देने पर मान गए। सपाजनों की संख्या और हाल के मामले से सीख लेते हुए पुलिस पूरी तरह मुस्तैद रही। सीओ सिटी सहित आधा दर्जन इंस्पेक्टर व दर्जनों सब इंस्पेक्टर के साथ फोर्स तैनात रही। जुलूस में जिलाध्यक्ष रामधारी यादव, पूर्व सांसद राधे मोहन सिंह, पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, डा. विरेंद्र यादव, तहसीन अहमद, सदानंद यादव, विवेक सिंह शम्मी , अरुण कुमार श्रीवास्तव, सत्येन्द्र यादव सत्या, अभिनव आदि थे।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *