सपा कार्यकर्ताओं ने डीएम के ज्ञापन न लेने के मामले पर जताया आक्रोश, लोहिया भवन में बैठक कर भाजपा सरकार को बताया तानाशाह

सपा कार्यकर्ताओं ने डीएम के ज्ञापन न लेने के मामले पर जताया आक्रोश, लोहिया भवन में बैठक कर भाजपा सरकार को बताया तानाशाह

गाजीपुर। पार्टी कार्यालय लोहिया भवन पर समाजवादी पार्टी की बैठक शनिवार को जिलाध्यक्ष रामधारी यादव की अध्यक्षता में हुई। इसमें सात अक्टूबर को जिलाधिकारी की ओर से ज्ञापन न लेने पर पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा तीखा आक्रोश व्यक्त किया गया। साथ ही जिलाधिकारी के इस हठी रवैए की तीखी निन्दा की गयी। वक्ताओं ने कहा कि लोकतंत्र में जिलाधिकारी के इस हठी एवं दम्भपूर्ण रवैए को किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता। जिलाधिकारी का यह रवैया गांधी की विचारधारा का अपमान और लोकतंत्र और संविधान का तिरस्कार है। सात अक्टूबर को जिलाधिकारी को ज्ञापन देने गए आन्दोलनरत गिरफ्तार कार्यकर्ताओं का माल्यार्पण कर व अंगम् वस्त्रम् प्रदान कर सम्मानित किया गया। संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि  जिलाधिकारी ने समाजवादी पार्टी का स्थानीय जनसमस्याओं से संबंधित ज्ञापन न लेना जनसमस्याओं की अनदेखी करना है। यह जिलाधिकारी का संवेदनहीन रवैया था। उन्होंने कहा कि पुलिस की लाठी, गोली और जेल हमें जनहित में संघर्ष करने से नहीं रोक सकती। जनहित में संघर्ष करना हमारा नैतिक दायित्व है। उन्होंने कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर रोष व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस का यह दमनपूर्ण, अलोकतांत्रिक और अन्यायपूर्ण कदम था। कहा कि हम पीछे हटने वाले नहीं जनसमस्याओं के सवाल पर समाजवादी पार्टी अपना कदम पीछे खींचने वाली‌ नहीं। हमारा संघर्ष तब तक जारी रहेगा, जब तक हम इस प्रदेश की सत्ता से तानाशाह भाजपा सरकार को उखाड़ नहीं फेंकेंगे। पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा ने कहा कि भाजपा सरकार का जनता के बुनियादी सवालों से कुछ भी लेना देना नहीं है। उसका एकमात्र काम विरोधी दल के नेताओं को फर्जी मुकदमों में फंसाना रह गया है। न्याय और जनसमस्याओं के लिए अपनी आवाज उठाने वाले युवाओं पर लाठियां भांजी जा रही है। भाजपा सरकार की इन्हीं जनविरोधी रवैए को लेकर समाजवादी पार्टी का नौजवान आन्दोलन की राह पर है। पूर्व सांसद राधे मोहन सिंह ने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति अत्यंत दयनीय है, अपराध बढ़ रहे हैं। महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं थम नहीं रही है। लूट, अपहरण, हत्यख, डकैती की घटनाएं रोज हो रही हैं। सत्ता संरक्षित अपराधी निर्दोषों की हत्या कर रहे हैं।
इस दौरान पूर्व विधायक विजय कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष सुदर्शन यादव, जैकिशन साहू, गोपाल यादव, निजामुद्दीन खां, अशोक बिन्द, अरुण कुमार श्रीवास्तव, बृजदेव खरवार,बजरंगी यादव, सत्येन्द्र यादव सत्या, डॉ समीर सिंह, दिनेश यादव, राकेश यादव, रामवचन यादव, परशुराम बिंद, रविन्द्र यादव,आशा यादव, विभा पाल,रीना यादव,असलम खां, में आत्मा यादव,तहसीन अहमद, गुड्डू यादव, कमलेश यादव, सिकन्दर कन्नौजिया, अनिल यादव, अभिनव सिंह, सुखपाल, अमित ठाकुर, अमित सिंह लालू, सदानंद कनौजिया,  ‌राहुल सिंह, नन्हें, आजाद राय, अशोक यादव, नीतिश खरवार, चन्द्रिका यादव, रमेश यादव, कन्हैया यादव, दिनेश यादव आदि मौजूद रहे। संचालन जिला उपाध्यक्ष कन्हैया लाल विश्वकर्मा ने किया।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *