भाजपा विधायक अलका राय का पत्र वायरल, प्रियंका- राहुल और कांग्रेस पर मुख्‍तार अंसारी को बचाने का आरोप

भाजपा विधायक अलका राय का पत्र वायरल, प्रियंका- राहुल और कांग्रेस पर मुख्‍तार अंसारी को बचाने का आरोप

गाजीपुर। भाजपा नेता और कृष्‍णानंद राय की पत्‍नी और वर्तमान में विधायक अलका राय का कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी और राहुल को लिखा एक पत्र वायरल हो रहा है। इस पत्र में पंजाब से कई मामलों में वांछित मुख्‍तार अंसारी के जेल से पेशी के लिए यूपी न भेजे जाने को लेकर आरोप लगाया गया है। आरोप यह भी लगाया गया है कि कुख्‍यात अपराधी काे पंजाब सरकार बचाने की कोशिश कर रही है। वायरल हो रहा पत्र प्रियंका गांधी वाड्रा, राष्‍ट्रीय महासचिव के नाम प्रेषित है। हालांकि पत्र की सत्‍यता को लेकर फ‍िलहाल कुछ स्‍पष्‍ट नहीं हो सका है। पत्र को लेकर जागरण ने विधायक अलका राय से बात करने की कोशिश की गई लेकिन उनका फोन रिसीव नहीं हो सका। वहीं उनके पुत्र पियूष राय ने जागरण को बताया कि कल ही इस बाबत कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को पत्र उनकी मां ने प्रेषित किया है। पत्र में लिखा है कि आदरणीय महोदया, सादर नमस्कार, मेरा नाम अलका राय है, मैं विधवा हूं और विगत 14 वर्षों से मैं अपने पति व लोकप्रिय विधायक रहे स्वर्गीय श्री कृष्णानंद राय की नृशंस हत्या के विरुद्ध इंसाफ की लड़ाई लड़ रही हूं। उस जुल्मी के खिलाफ जिसे आज आपके पार्टी और पंजाब राज्य में आप की सरकार खुला संरक्षण दे रही है। उत्तर प्रदेश की तमाम अदालतों से मुख्तार अंसारी को तलब किया जा रहा है, परंतु पंजाब सरकार उसे उत्तर प्रदेश भेजने को तैयार नहीं है। हर बार कोई न कोई बहाना बनाकर मुझे और मुझ जैसे सैकड़ों लोगों को हिसाब से वंचित किया जा रहा है। यह बेहद शर्मनाक है कि आप की राजनीतिक पार्टी और उसके नेतृत्व की सरकार इतनी निर्दयता के साथ मुख्तार अंसारी जैसे दुर्दांत अपराधी के साथ खुलकर खड़ी है। कोई भी यह स्वीकार नहीं करेगा कि यह सब कुछ आपकी और राहुल जी की जानकारी के बगैर हो रहा है। मुख्तार अंसारी पेशेवर अपराधी है उसने तमाम निर्दोषों की बेरहमी से हत्या की है। अनेक माताओं बहनों का उसने सुहाग उजाड़ा है तो तमाम बच्चों के सिर से उसने पिता का साया छीना है। प्रत्येक पीड़ित को उस क्षण की प्रतीक्षा है जब मुख्तार जैसे दुर्दांत अपराधी को उसके किए की कड़ी सजा मिलेगी। इंसाफ की आस में हमारा हर दिन और हर रात तिल-तिल कर गुजर रहा है। आप खुद भी एक महिला हैं ऐसे में मेरा आपसे विनम्रता से सवाल है कि आप ऐसा क्यों कर रही है? क्या आपको हम जैसी अबलाओं का दर्द नहीं दिख रहा है। मेरी खुद की कहानी इस बात का प्रमाण है कि कैसे कानून का मजाक उड़ाकर मुख्तार वर्षों से सुरक्षित बचा हुआ है। यह बेहद खेदजनक है कि आप और आपकी पार्टी अपराधियों के साथ खुलकर खड़ी है। मीडिया के माध्यम से मुझे पता चला कि उत्तर प्रदेश की गाड़ियां मुख्तार अंसारी को लेने गईं। सरकार ने उसे बचाने के लिए तीन महीने का बेड रेस्ट दे दिया। मैं और मेरे जैसे लोग इस बात से हताश हैं जिन्‍हें आज तक इंसाफ का इंतजार है। आज संपूर्ण उत्तर प्रदेश की जनता के मन में यह कौतूहल है कि  मुख्‍तार को लेकर उठ रहे तमाम सवालों पर प्रियंका जी और राहुल जी खामोश क्यों है। मजबूरी में एक कुख्यात अपराधी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं।  मुझे आप के जवाब का इंतजार रहेगा मुझे विश्वास है कि यदि आपके मन में थोड़ी भी संवेदना होगी तो आप ना सिर्फ मेरे पत्र का जवाब देंगी बल्कि मुख्तार अंसारी को सजा दिलाने में मेरी मदद भी करेंगी। – अलका राय

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *