युवक ने सुसाइड नोट लिखकर की आत्महत्या

युवक ने सुसाइड नोट लिखकर की आत्महत्या

गाजीपुर। नंदगंज थाना क्षेत्र निवासी 62 वर्षीय मुन्नू प्रसाद ने अपने घर में सुसाइड नोट लिखकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। मृत्यु का कारण जहर या कुछ और स्प्ष्ट नहीं हो पाया है। मुन्नू प्रसाद के तीन पुत्र हैं। दीपक पिता के साथ रहकर व्यवसाय में सहयोग करता था, जबकि दोनों पुत्र डब्लू, बबलू के साथ पत्नी दुर्गा बॉम्बे में रहती है। बुधवार की सुबह 6 बजे दीपक चाय बनाकर अपने पिता मुन्नू प्रसाद को जगाने अपने पिता के कमरे में गया। मुन्नू प्रसाद रोज की भांति खाना खाकर अपने कमरे में सो रहा था। कमरा आधा खुला हुआ था। दीपक जब कमरे में चाय लेकर गया, तो कमरे का दृश्य देख अवाक रह गया। उसके शोर करने पर आस-पास के लोगों की भीड़ जुट गयी। सूचना मिलते ही महराजगंज चौकी प्रभारी राजेश कुमार मिश्र पुलिस बल के साथ घटना स्थल पहुंचकर शव को कब्जे में पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। राजेश कुमार मिश्र को मृतक के चारपायी पर एक सुसाइड नोट मिला। जिसे पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया। मुन्नू प्रसाद ठठेर गांव में साइकिल से बर्तन बेचने का काम करता था। उसकी राजनीतिक दलों में काफी रुचि थी। वह बसपा का सक्रीय सदस्य रहा जब भी कार्यक्रम लगते बढ़चढ़कर हिस्सा लेता था। चारपहिया वाहन से सहयोग भी करता था। कुछ दिनों से क्षेत्र में घूमघूमकर लोगों से कहता था कि इस बार सदर विधानसभा क्षेत्र से विधायकी का चुनाव मैं ही लडूंगा। बसपा सुप्रीमो से बात भी हो गयी है। उसने अपने सुसाइड नोट में जिक्र किया है कि टिकट के लिए मुझसे 2 करोड़ की मांग की गयी है। क्षेत्र में उसकी पहचान बसपा के कार्यकर्ता के रूप में है। कोतवाली प्रभारी विमल मिश्र ने बताया कि सुसाइड नोट मृतक के पास से मिला है। इसकी जांच की रही कि है कि यह प्रयोजित है या इसका घटना से कोई संबंध है।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *