मुख्तार की हत्या का पत्नी को सता रहा डर, राष्ट्रपति को लिखा पत्र

मुख्तार की हत्या का पत्नी को सता रहा डर, राष्ट्रपति को लिखा पत्र

गाजीपुर।  मऊ के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी की हत्या का डर उसकी पत्नी अफशां को एक बार फिर से सताने लगा है। उन्होंने अपने पति की सुरक्षा के लिए कुल 14 पन्नों का राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द को पत्र लिखा है। इसमें मुख्तार अंसारी के पंजाब की रोपड़ जेल में बंद होने और उच्चतम न्यायालय द्वारा गत 26 मार्च को अपने आदेश में उन्हें रोपड़ जेल से दो सप्ताह के अंदर उत्तर प्रदेश में भेजने के आदेश का जिक्र है। अफशां ने पंजाब से उत्तर प्रदेश लाने के दौरान उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने का आदेश देने की गुहार लगाई है। पुष्टि मुख्तार के बड़े भाई व सांसद अफजाल अंसारी ने भी जागरण से बातचीत में की। अफशां ने अपने पत्र में लिखा है कि उनके पति एक मामले में चश्मदीद गवाह हैं जिसमें भाजपा के विधान परिषद सदस्य माफिया बृजेश सिंह और त्रिभुवन सिंह आरोपित हैं। आरोप लगाया है कि यह दोनों सरकारी तंत्र की कथित मिलीभगत से अंसारी को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। इससे खतरा महसूस हो रहा है कि पंजाब की जेल से बांदा लाए जाते वक्त रास्ते में फर्जी मुठभेड़ की आड़ में मुख्तार अंसारी की हत्या की जा सकती है। उन्होंने कहा है कि अन्य विचाराधीन बंदियों की तरह उनके पति को भी कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण अदालत में खुद पेश होने की छूट दी गई है और वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए पेशी कराई जा रही है। मुख्यमंत्री के बयान का भी किया है जिक्र अफशां ने अपने पत्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यमंत्री आनंद स्वरूप शुक्ला, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, भाजपा विधायक सुशील कुमार सिंह, विजय राजभर, मुख्यमंत्री मीडिया एडवाइजर शलभमणि त्रिपाठी, भाजपा नेता अफताब आडवानी के बयानों का भी जिक्र किया है। कहा है कि ऐसे बयानों से हमारा पूरा परिवार भयभीत है।

adminpurvanchal