हिमांशु प्रजापति की लिखी फ़िल्म को कान्स (Cannes) फ़िल्म फ़ेस्टिवल में मिला गोल्डन आइ अवार्ड

हिमांशु प्रजापति की लिखी फ़िल्म को कान्स (Cannes) फ़िल्म फ़ेस्टिवल में मिला गोल्डन आइ अवार्ड

हिमांशु प्रजापति मिश्रबाज़ार ग़ाज़ीपुर के रहने वाले हैं. Ftii एक पुरानी फ़िल्म की संस्थान है जहां से राज कुमार हिरानी, संजय लीला भंसाली, जया बच्चन, राज कुमार राव जैसे बड़े-बड़े निर्देशक और कलाकार पढ़ के फ़िल्म इंडस्ट्री में काम किए हैं और अपना नाम कमाए हैं.

गाजीपुर। अ नाइट ओफ़ नोइंग नथिंग (A Night Of Knowing Nothing) नाम की फ़िल्म को Cannes कांस फ़िल्म फ़ेस्टिवल में मिला गोल्डन आइ का पुरस्कार. ये भारत से पहली फ़िल्म है जिसे ये अवार्ड मिला है. फ़िल्म की निर्देशक हैं मुंबई की पायल कापड़िया और उनके साथ इस फ़िल्म को लिखा है हिमांशु प्रजापति ने. दोनों ने ही भारतीय फ़िल्म और टेलिविज़न संस्थान पुणे FTII से लेखन और निर्देशन का कोर्स किया है. हम आपको बता दें कि इस फिल्म में अपने कैटेगरी मैं शामिल हुए दुनिया भर के 28 फिल्मों में यह खिताब जीता है. हम आपको बता दें कि हिमांशु प्रजापति मिश्रबाज़ार ग़ाज़ीपुर के रहने वाले हैं. FTII एक पुरानी फ़िल्म की संस्थान है जहां से राज कुमार हिरानी, संजय लीला भंसाली, जया बच्चन, राज कुमार राव जैसे बड़े-बड़े निर्देशक और कलाकार पढ़ के फ़िल्म इंडस्ट्री में काम किए हैं और अपना नाम कमाए हैं. हिमांशु प्रजापति पिछले एक साल से गहमर से आर्मी में भरती होने वाले जवानो पर एक डॉक्युमेंटरी फ़िल्म बना रहे हैं और साथ में ही मुंबई की बहुत सारी एड फ़िल्म और वेब फ़िल्म में मुख्य सहायक निर्देशक के रूप में काम कर चुके हैं. अभी वो फिलहाल ऐमज़ान प्राइम (Amazon Prime) के लिए एक वेब सिरीज़ का लेखन का काम कर रहे हैं. हिमांशु प्रजापति अपनी पहली फ़िल्म ग़ाज़ीपुर में ग़ाज़ीपुर की कहानी पर बनाने की कोशिश में हैं.

adminpurvanchal