खनन, विद्युत व पीडब्ल्यूडी को कारण बताओ नोटिस जारी

खनन, विद्युत व पीडब्ल्यूडी को कारण बताओ नोटिस जारी

– तीन नपा. व पांच नपं. के अधिशासी अधिकारियों से मांगा गया स्पष्टीकरण

– कम वसूली पर डीएम ने जताई नाराजगी

 

गाजीपुर। जिलाधिकारी एमपी सिंह की अध्यक्षता में सोमवार को रायफल क्लब सभागार में कर-करेत्तर एवं मासिक स्टाफ बैठक हुई। डीएम ने कर-करेत्तर की समीक्षा के दौरान खनन, विद्युत एवं लोक निर्माण विभाग द्वारा लक्ष्य के सापेक्ष कम वसूली पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। नगर पालिका सदर, मुहम्मदाबाद एवं जमानियां तथा बहादुरगंज, दिलदारनगर, सैदपुर और सादात नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी को कम राजस्व वसूली पर स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया। समस्त अधिशासी अधिकारियों को प्रधानमंत्री स्व निधि योजना, प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना में अपेक्षित प्रगति लाने और अपने-अपने क्षेत्र के सड़कों को गढ्ढा मुक्त कराने का निर्देश दिया। उन्होंने बिना अनुमति प्राप्त किये ही मुख्यालय छोड़ने तथा बैठक में अनुपस्थित रहने पर डीएफओ को स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया। अगले क्रम में आपूर्ति विभाग की समीक्षा के दौरान सदर तहसील में 01, जखनियां में 02, सैदपुर में 02 तथा मुहम्मदाबाद में 02 सस्ते गल्ले की दुकानों का आवंटन समय पर न किये जाने के कारण नाराजगी जताते हुए सदर, जखनियां, सैदपुर और मोहम्दाबाद के एसडीएम तथा जिलापूर्ति अधिकारी के साथ ही सम्बन्धित पूर्ती निरीक्षकों से स्पष्टीकरण देने को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने चकबन्दी, व्यापार कर, विद्युत देय, आबकारी, औद्योगिक ऋण, बाट माप, बैंक देय, परिवहन, मण्डी समिति, वन विभाग, स्टाम्प, नगर पालिका, आडिट आपत्ति, अंश निर्धारण, आईजीआरएस, मोटर देय, सिचाई, काउण्डर फाईल के सम्बन्ध में विस्तृत समीक्षा की। कम राजस्व प्राप्ति वाले विभागों के प्रति गहरी नाराजगी जताते हुए उन्होनें समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को अपने लक्ष्य के प्रति प्रत्येक माह पूर्ण करने की कार्य योजना बनाकर मूर्त रूप प्रदान करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि राजस्व प्राप्ति के संबंध में जो विभाग कार्य कर रहे हैं उनके द्वारा अपने-अपने लक्ष्य को प्रत्येक माह उसे पूर्ण कर अंतिम रूप प्रदान किया जाय। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही एवं शिथिलता क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि जिन विभागीय अधिकारियों द्वारा अपने राजस्व लक्ष्यों की प्राप्ति नहीं की जाएगी उनके विरुद्ध कार्यवाही प्रस्तावित की जाएगी। राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ मासिक स्टाफ बैठक में डीएम ने कासिमाबाद तहसील में खतौनी के अधूरे कार्याे पर तहसीलदार कासिमाबाद एवं कलेक्ट्रेट नजारत में आडिट आपत्तियो को समयान्तर्गत प्रस्तुत न करने पर संबंधित से स्पष्टिकरण मांगा। उन्होने लंबित प्रकरण एवं विवादित, दाखिल खारिज 122 बी. में विवादित वादों का निस्तारण करने को कहा। डीएम ने आडिट आपत्ति, व्यापार कर, परिवहन कर, बैंक देय, तथा जनपद के बडे बकायादारो के सम्बन्ध में जानकारी ली तथा उनसे वसूली करने और बकाया न देने वाले व्यक्तियों पर शासनात्मक कार्यवाही करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि समस्त अधिकारी राजस्व वसूली का कार्य सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर करते हुए डिमांड के अनुसार वसूली सुनिश्चित करें। उन्होंने राजस्व वादों के निस्तारण के संबंध में सभी पीठासीन अधिकारियों द्वारा शिकायतो का निस्तारण गुण एवं दोष के आधार पर कार्रवाई करते हुए सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार एवं अन्य संबंधित राजस्व अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि राजस्व कार्यों में सभी अधिकारियों द्वारा सरकार की मंशा के अनुरूप चलाए जा रहे प्रत्येक कार्यक्रम में तत्परता दिखाते हुए कार्यों का संपादन किया जाना सुनिश्चित करें। इस मौके पर अपर जिलाधिकरी वि.रा. राजेश कुमार सिंह, अपर जिलाधिकारी भू.रा. सुशील कुमार श्रीवास्तव, एसओसी एसके शुक्ला समस्त एसडीएम, तहसीलदार, ईओ नगर पालिका, नगर पंचायत एवं सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित रहे।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *