भगत सिंह के जीवन से सीख लेने की जरूरत

भगत सिंह के जीवन से सीख लेने की जरूरत

– जयंती पर याद किये गये शहीदे आजम भगत सिंह

गाजीपुर। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओ ने क्रान्तिकारी शहीदे आजम भगत सिंह की जयंती पर उनको याद किया। आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष राकेश कुमार ने कहा कि क्रान्तिकारी वीर सपूत भगत सिंह का जीवन प्रेरणादायी है। हमसभी देशवासियों को भगत सिंह के जीवन से सीख लेना चाहिए। कर्तव्य से पीछे नहीं हटना चाहिए। आप के किसान प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष नागेंद्र यादव व जिला महासचिव इमरान खान ने कहा कि भगत सिंह को केवल क्रान्तिकारी के रूप मे ही जाना जाता है, किंतु वे केवल क्रान्तिकारी देशभक्त नही अपितु अध्ययनशील विचारक, दार्शनिक, कलम के धनी, चिंतक भी थे। जमानियां विधानसभा अध्यक्ष श्री अरविंद खरवार व जिला मीडिया प्रभारी नागेंद्र शर्मा ने कहा कि भगत सिंह उर्दू, अंग्रेजी, हिन्दी, पंजाबी, संस्कृत व आयरिश भाषा के मर्मज्ञ थे जिन्होंने अकाली व कीर्ति पत्रो को सम्पादन किया। अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य सलमान सईद व जिला उपाध्यक्ष श्री दिनेश मौर्य ने कहा कि भगत सिंह व उनके साथियो ने 64 दिन तक भूख हड़ताल किया था। यह भारत माता के सच्चे सपूत थे। अजय वर्मा व जिला सचिव राहुल ने कहा कि अमृत सर मे 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग हत्याकांड भगत सिंह पर गहरा प्रभाव डाला। इससे उन्होंने ने पढ़ाई छोड़कर आजादी के लिए नौजवान भारत सभा की स्थापना की। अरविंद कुमार अकेला व राजू यादव ने कहा कि भगत सिंह पूंजीपतियों को कई तरह से अपना शत्रु मानते थे। उनका कहना था मजदूरों को शोषण करने वाला एक भारतीय ही क्यों न हो वह उनका भी शत्रु है। इस दौरान अधिवक्ता प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विवेक राय, जितेंद्र यादव, संतोष यादव, जावेद अहमद, जिला उपाध्यक्ष सुभाषचंद्र मौर्य, एहसान अहमद, साजिद अली शाह, अशोक विश्वकर्मा आदि उपस्थित थे।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.