सामाजिक कार्यकर्ता ने नगर पालिका को दी खुली चुनौती

सामाजिक कार्यकर्ता ने नगर पालिका को दी खुली चुनौती

– कल तक शहर भर के उठ जाने चाहिए सभी कूड़े-कचरे : विवेक सिंह शम्मी

– कहा : कूड़े-कचरे नहीं उठाये जाने पर नगर पालिका कार्यालय पर फिंकवाया जायेगा सभी कचरा

गाजीपुर। सामाजिक कार्यकर्ता विवेक सिंह शम्मी ने नगर पालिका कार्यालय को खुलेआम चुनौती दी है। उन्होंने अपने तेवर भरे अंदाज में कहा है कि अगर कल तक यानी 7 अक्टूबर तक शहर के सभी कूड़े-कचरे साफ नहीं किये गये, तो यह सभी कूड़े-कचरे को नगर पालिका कार्यालय पर फिंकवाया जायेगा। उन्होंने शहर के सिटी रेलवे स्टेशन से फुल्लनपुर को जाने वाली सड़क किनारे लगे कचरे के ढेर को इंगित करते हुए अपने फेसबुक, ट्वीटर आदि सोशल मीडिया पर इसे दिखाते हुए फोटो जारी की है और नगर पालिका को खुलेआम चेतावनी दी है कि अगर कल तक शहर के कचरे नहीं हटवाये गये, तो सभी कचरे के ढेर को उठवाकर नगर पालिका कार्यालय के पास फिंकवा दिया जायेगा। उनके इस ट्वीट से नगर पालिका कार्यालय में खलबली मची हुई है। मालूम हो कि सामाजिक कार्यकर्ता विवेक सिंह शम्मी ने लगातार 24 सितंबर से 2 अक्टूबर तक जनहित में अपने चार सूत्रीय मांगों को लेकर बकायदा हस्ताक्षर अभियान चलाया था, जिसमें एक शहर में नियमित साफ-सफाई के लिए भी मांग की गयी है, पर दलालों व ठेकेदारों से घिरा नगर पालिका विभाग अपने दायित्व से पूरी तरह विमुख हो चुका है। शहर में साफ-सफाई के लिए न तो नगर पालिका अध्यक्ष को परवाह, ना ही ईओ को और ना ही सफाई-कर्मियों को। इसके चलते शहर में हर तरफ गंदगी का ढेर लगा हुआ है। यहां तक कि पितृविसर्जन पर भी शहर के गंगा घाटों की साफ-सफाई तक नहीं करायी गयी थी। इसके चलते घाटों पर पितृविसर्जन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को गंदगी के बीच बैठकर श्राद्ध एवं पितृ तर्पण को विवश रहे। नगर पालिका की इस निरंकुशता के चलते शहरवासियों में काफी नाराजगी है। यही वजह है कि सामाजिक कार्यकर्ता के इस मुहिम का शहरवासियों ने खुलकर समर्थन किया है, जिसका ज्ञापन विवेक सिंह शम्मी ने जिलाधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजकर अवगत कराया है। सामाजिक कार्यकर्ता की नगर पालिक को दी गयी खुली चुनौती का क्या असर होता है, यह तो कल यानी 7 अक्टूबर को पता चल सकेगा।

adminpurvanchal