प्रधानमंत्री से दस सवालों को लेकर चंपारण से वाराणसी तक जाने वाली किसानों की पद यात्रा पहुंची जनपद

प्रधानमंत्री से दस सवालों को लेकर चंपारण से वाराणसी तक जाने वाली किसानों की पद यात्रा पहुंची जनपद

पहुंची जनपद
गाजीपुर। किसानों के हक की लड़ाई लड़ रही नव निर्माण किसान संगठन संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजकद्वय अक्षय कुमार व हिमांशु तिवारी के नेतृत्व में पूर्वी चंपारण से चलकर वाराणसी तक जाने वाली किसान यात्रा लेकर शुक्रवार की शाम जनपद के कासिमाबाद होते हुए शहर के सिटी रेलवे स्टेशन-लंका रोड स्थित सरस्वती स्कूल परिसर में पहुंची। यात्रा में शामिल बड़ी संख्या में किसानों के ठहरने की व्यवस्था की गयी। जहां उन्हें भोजन आदि की व्यवस्था स्थानीय लोगों ने किराया। यात्रा के संयोजकद्वय अक्षय कुमार व हिमांशु तिवारी ने बताया कि नव निर्माण किसान संगठन ने निर्णय लिया है कि हम देश के लोगों को जगाने और एकजुट जनमत के सवाल को लेकर प्रधानमंत्री से पूछने के लिए उनके संसदीय क्षेत्र बनारस तक चंपारण से चलकर जा रहे हैं। यह पदयात्रा देश के सवालों के जवाब के लिए महात्मा गांधी के बताये रास्ते ”लोकनीति सत्याग्रह” के माध्यम से बिहार के पूर्वी चंपारण से प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र उत्तर प्रदेश के वाराणसी तक 350 किलोमीटर की दूरी तय कर 20 अक्टूबर को पहुंचा जायेगा। बताया कि यह यात्रा गांधी-शास्त्री के जन्मदिवस दो अक्टूबर से प्रारंभ हुई है, जो लगभग उन्नीस दिनों में वाराणसी 20 अक्टूबर को पहुंचेगी। यात्रा एवं लोकनीति सत्याग्रह के माध्यम से प्रधानमंत्री से दस सवाल पूछे गये हैं। इनमें लोकमंत्र में अलोकतांत्रिक निर्णय क्यों, 600 से ज्यादा किसानों के शहादत के बाद भी किसानों से मिलने के लिए संवेदना क्यों नहीं जगी। तीनों काले कानून कब वापस होंगे। एमएसपी पर कानूनी गारंटी क्यों नहीं, नौजवानों के रोजगार पर फैसला क्यों नहीं, नौजवानों के रोजगार पर फैसला कब, किसानों को सामाजिक सुरक्षा भत्ता क्यों नहीं, कमर तोड़ महंगाई से राहत कब, कोरोना से दिखाई दिए विफल स्वास्थ्य सिस्टम की जिम्मेदारी किसकी, अस्पतालों की हालत कब सुधरेगी, पढ़ाई, दवाई, कमाई, महंगाई, उचित मूल्य जैसे जरूरी सवाल सत्ता में आने के इतने साल बाद भी एजेंडे में क्यों नहीं। मजदूरों के पलायन और बढ़ती अमीरी-गरीबी असमानता का जिम्मेदार कौन, कॉपोर्रेट और विदेशी कंपिनयों के हाथ की कठपुतली सरकार कब तक बनी रहेगी, प्राकृतिक संसाधनों के अंधाधुंध लूट की छूट कब तक। इन दस वालों को लेकर देश भर के हजारों किसानों-नौजवानों के साथ यह पद यात्रा निकली है। इस जिले से गुजरकर अब यह वाराणसी प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में पहुंचेगी। यह यात्रा पूर्वी चंपारण से प्रारंभ होकर मोतिहारी, मलमालिया, माझीघाट, सीताब्दियरा, बलिया, रसड़ा होते हुए इस जनपद के कासिमाबाद, नंदगंज, सिधौना होते हुए संदहां, चौबेपुर और वाराणसी पहुंचेगी। यात्रा में आये लोगों को भोजन कराने सहित अन्य व्यवस्थाओं का इंतजाम करने का कार्य संदीप विश्वकर्मा, रतन बाबा, आनंद सिंह, सतीश, सीके यादव, मनीष आदि ने अपने सहयोग से किया।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *