बालिका संग दुष्कर्म के आरोपित भेजे गये सलाखों के पीछे

बालिका संग दुष्कर्म के आरोपित भेजे गये सलाखों के पीछे

गाजीपुर। बालिका संग दुष्कर्म करने और उसका वीडियो बनाने वाले दोनों आरोपितों को शुक्रवार की सुबह बहरियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सुसंगत धाराओं में केस दर्ज कर इन्हें जिला मुख्यालय स्थित पास्को प्रथम कोर्ट में विशेष न्यायाधीश के समक्ष पेश किया गया, जहां से इन्हें जेल भेज दिया गया। बालिका का मेडिकल मुआयना कराने के साथ ही पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। एक गांव की 12 वर्षीया बालिका घर से थोड़े दूर स्थित मोनू चौरसिया के दुकान पर प्रायः घर का सामान खरीदने जाया करती थी। गलत नीयत रखते हुए मोनू उसे फ्री में टॉफी-बिस्कुट आदि देकर बहलाया-फुसलाया करता था। बीते 26 सितम्बर को मौका पाकर वह बालिका को दुकान के बगल में स्थित कोठरी में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म करने लगा, जबकि उसका दोस्त अभय यादव (16) इस कुकृत्य का वीडियो बना लिया। घटना के बाद दुकान से टॉफी-बिस्कुट देकर आगे भी इसी तरह फ्री में देने का वादा कर उसे यह बात किसी से नहीं बताने की हिदायत दी। इसके बावजूद घर लौटने पर बालिका ने मां से आपबीती बताई तो वह आग बबूला होकर आरोपित के दुकान पर पहुंची। यहां लोगों ने बालिका के बड़ी होने पर शादी विवाह और लोकलाज का हवाला देकर मामले को रफा-दफा करने की गुजारिश की। इसी बीच हाल ही में उसके दोस्त ने वीडियो को वायरल कर दिया, जिससे मामला तूल पकड़ लिया। पीड़िता की मां से मिली तहरीर के आधार पर पुलिस ने 376 डीए, 506 आईपीसी, 5जी/6 पास्को एक्ट और 67 बी आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज किया। शुक्रवार की सुबह करीब सवा आठ बजे मुखबिर की सूचना पर बहरियाबाद एसओ ने हमराहियों संग दोनों आरोपियों को रायपुर से आगे बेसो नदी पुलिया के पास से गिरफ्तार कर लिया। दोनों कहीं भागने की फिराक में थे। एसओ अगम दास ने बताया कि दोनों अभियुक्तों को पास्को प्रथम कोर्ट में विशेष न्यायाधीश के समक्ष पेश करते हुए आगे की कार्रवाई की जा रही है।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.