कोरोना से अकेले जंग लड़ती एक महिला की कहानी, गाजीपुर की जुबानी

कोरोना से अकेले जंग लड़ती एक महिला की कहानी, गाजीपुर की जुबानी

गाजीपुर। कोरोना महामारी में लॉक डाउन के कारण एहतियातन जंहा सभी लोग अपने अपने घरों में बैठे है, वंही जनता के लिए निरंतर चलती एक महिला को कोरोना का वायरस तनिक भी डिगा नहीं पा रहा है। इस आपदा की घड़ी में जरुरतमंदो और असहयो की मदद के लिए निस्वार्थ भावना से अकेले अपनी स्कूटी पर सामान लाद उनके दरवाजे दरवाजे तक सहायता पहुंचने के साथ गोद में उन्हें उठा हॉस्पिटल तक पहुंचने का कार्य उक्त समाजसेविका द्वारा बिना किसी स्वार्थ के निर्बाध जारी है। जी हां, हम बात कर रहे है जनपद के असहायों और गरीबों की मसीहा बन चुकी विभा पाल धनगर की जो आज किसी परिचय की मोहताज नहीं।

vibha_pal_scooty
स्कूटी पर सामान लाद असहायों की मदद को अकेले निकल पड़ी विभा पाल

2017 विधान सभा में अपनी सखी के चुनाव प्रचार के कारण चुनावी समर में कूदने वाली एक घरेलू महिला को तब तक यह नहीं पता था कि कुछ महीनों के लिए शुरू किया गया उसका यह सफर उसको कभी न खत्म होने वाले सफर की ओर ले जा रहा है। चुनाव में जीत के बाद लोगों की परेशानियों और जरूरतों को पूरा करते करते कब वह कभी न खत्म होने वाले सफर पर निकल पड़ी उनको पता ही नहीं चला।

vibha_pal_station
लॉक डाउन के दौरान सिटी स्टेशन पर फसे बुजुर्गो की सेवा करते हुए

कभी सावित्री बाई फुले तो कभी मदर टरेसा बन जनता के हर सुख दुःख में निस्वार्थ खड़ी जनपद की समाज सेवी विभा पाल धनगर जो आज कोरोना जैसी महामारी में भी अपने परिवार की जिम्मेदारी उठाते हुए जनसेवा में लगी हुयी है। गाजीपुर लाइव से बातचीत में उन्होंने कहा कि आम दिनों में जिनको भूख से लड़ना पड़ता हो उन्हें इस लॉक डाउन में किस दौर से गुजरना पड़ रहा है, आप कल्पना भी नहीं कर सकते। गावों में बच्चे बिस्किट जैसी मामूली चीज के लिए भी तरस रहे है, उनकी चेहरे पर आई एक मुस्कराहट मेरे लिए संजीविनी है।

corona_vibha_pal
स्वयं से निर्मित भोजन वितरित करती विभा

विभा पाल ने आगे बताया कि “पहले सोचती थी कि मेरी दोस्त ये बन गयी, वो बन गयी पर मै क्या बनी? प्रभु ने मुझको क्यों भेजा है धरती पर? अब पता चला की इनके लिए भेजा है मुझे इस धरती पर।” कोरोना महामारी में भी विभा पाल और उनकी स्कूटी नियमित निस्वार्थ भाव से जनसेवा में लगी हुयी है। सभी को घरो में रहने के लिए जागरूप करते हुए उन्हें मास्क लगाने वह सोशल डिस्टेंसिंग के लिए प्रोत्साहित करती है।

 

ghazipur_vibha_pal

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *