बारात से लौट रही वैगनार पेड़ से टकरायी, कस्बा निवासी दो की मौत

बारात से लौट रही वैगनार पेड़ से टकरायी, कस्बा निवासी दो की मौत

– गंभीर रूप से घायल सवार पांच लोागें को मऊ में कराया गया भर्ती

– मऊ में पोस्टमार्टम के बाद शव आने पर परिजनों में मचा कोहराम

गाजीपुर। बारात से लौट रहे बहादुरगंज कस्बा क्षेत्र के दो युवक सड़क हादसे का शिकार हो गये। उनकी मौत से क्षेत्र में कोहराम मच गया। शोक में कस्बा क्षेत्र की सभी दुकानें बंद रखी गयीं। इससे मातमी सन्नाटा पसरा रहा। कस्बा के हनुमान मंदिर स्थित अवधेश गोड़ के भांजा राजू कुमार गौड़ की बारात ग्राम खनिगह पोस्ट अमिला थाना घोसी जनपद मऊ के राधेश्याम गौड़ के यहां गयी थी। वहां देर रात एक वैगनार वाहन में सात लोग सवार होकर घर लौट रहे थे। जहां अचानक सरवां चट्टी थाना सराय लखंसी मऊ पर अचानक चालक को नींद आ गयी। इससे पलक झपकते ही सड़क किनारे एक नीम के पेड़ से जा वैगनार जा टकरायी। इससे वाहन में सवार कस्बा निवासी 40 वर्षीय अखिलेश बर्नवाल उर्फ पिंकू पुत्र रमेशचंद बर्नवाल व 20 वर्षीय राहुल वर्मा उर्फ छोटू पुत्र अशोक वर्मा की मौके पर ही मौत हो गयी। दोनों युवक का शव किसी तरह वाहन को काटकर निकाला गया। वहीं इसमें सवार 25 वर्षीय अर्जुन गौड़ पुत्र अमरनाथ गौड़, 25 वर्षीय सत्यम बर्नवाल पुत्र कमलेश बर्नवाल, 22 वर्षीय सनी मद्धेशिया पुत्र बेचन प्रसाद, 10 वर्षीय ईशु बर्नवाल पुत्र अखिलेश बर्नवाल, 10 वर्षीय आर्यन मद्धेशिया पुत्र विपिन बुरी तरह घायल हो गए। सभी को मऊ स्थित सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां डॉक्टरों ने उन्हें वाराणसी के लिए रिफर कर दिया। सड़क दुर्घटना में हुई दो युवकों की मौत व घायल की जानकारी होने कस्बा में कोहराम मच गया। शोक में कस्बा की सभी दुकानें बंद रखी गयीं। बाजार में सन्नाटा छाया रहा। वहीं मृतकों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल बना रहा। लोगों ने बताया कि घटना के बाद मृतक अखिलेश बर्नवाल का 10 वर्षीय पुत्र ईशु बर्नवाल ने मोबाइल से अपने घर पर दादी को सबसे पहले इसकी जानकारी दी। ईशु बर्नवाल भी अपने पिता अखिलेश के साथ लौट रहा था। जहां इस हादसा में उसका हाथ टूट गया है, जहां वह अस्पताल में भर्ती है। इस दर्दविदारक घटना से पूरा कस्बा क्षेत्र दहल गया है। परिजनों की चीख-पुकार से माहौल गमगीन बन गया है। मृतकों के शव का पोस्टमार्टम मऊ में ही कराया गया। इसके बाद शव को परिजनों को सौंप दिया गया, जहां देरशाम शव के आते ही परिजनों में कोहराम मच गया। दहाड़े मारकर महिलाएं बिखलने लगीं। जहां जुटे लोग किसी तरह सांत्वना देते रहे।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.