भगीरथपुर गांव निवासी चालक व खलासी की मौत से छाया मातम

भगीरथपुर गांव निवासी चालक व खलासी की मौत से छाया मातम

– मृतकों का शव लाने परिजन मिर्जापुर के लिए हुए रवाना

– मध्यप्रदेश के हनुमना से बालू लेकर गाजीपुर के ट्रक से आ रहे थे चालक गोवर्धन यादव व खलासी पारस यादव

गाजीपुर। सुहवल थाना क्षेत्र के भगीरथपुर गांव निवासी ट्रक चालक व खलासी जो बालू लेकर मध्यप्रदेश से गाजीपुर आ रहे थे कि मिर्जापुर जनपद के लालगंज थाना क्षेत्र के ड्रामलगंज के पास सामने से आ रही कोयले लदे ट्रक की जोरदार टक्कर में शनिवार की देर शाम करीब पौने आठ बजे भगीरथपुर निवासी ट्रक चालक 25 वर्षीय गोवर्धन यादव व खलासी 50 वर्षीय पारस यादव की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं ट्रक के भी परखच्चे उड़ गये। सूचना पर पहुंची लालगंज थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्मार्टम के लिए भेंजने के साथ ही मृतकों के पास मिले मोबाइल व कागजात के आधार पर उसकी पहचान की गयी। इसकी सूचना मृतकों गांव भगीरथपुर दी गयी। इस भीषण हादसे में मौत की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। वहीं गांव में सन्नाटा छा गया। परिज‌न तुरंत वाहन से घटनास्थल के लिए रवाना हो गए। मृतक ट्रक चालक के परिजनों के मुताबिक गोवर्धन जमानियां कोतवाली क्षेत्र के देवरियां गांव के एक युवक का ट्रक काफी दिनों से चला रहा था। जहां शुक्रवार की सुबह बालू लेने के लिए चालक गोवर्धन अपने ही गांव के खलासी पारस यादव के साथ गया हुआ था। वहीं शनिवार की सुबह मध्यप्रदेश के हनुमना से बालू लेकर गाजीपुर के लिए निकल पड़ा। इसी दौरान शाम पौने आठ बजे के करीब लालगंज थाना के एक गांव के पास ट्रकों की हुई आमने-सामने भिडंत में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। मृत ट्रक चालक के परिजनों के मुताबिक वह अपने तीन भाईयों में सबसे बडा था, जो परिवार का एकमात्र कमासुत व्यक्ति था। उसके पिता बेचन यादव व मां महराजी देवी घर पर ही रहते हैं। ट्रक चालक की पत्नी आरती का रो-रोकर बुरा हाल बना रहा। उसकी शादी डेढ़ वर्ष पूर्व सुहवल थाना क्षेत्र के सुजानपुर में हुई थी। इधर मृत ट्रक खलासी पारस यादव के परिजनों ने बताया कि वह अपने पिता के इकलौते संतान थे। उनके पांच पुत्र व दो पुत्रियां हैं। पिता धर्मराज व मां तेतरी देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। मृतक परिजनों के मुताबिक दोनों का शव रविवार की देर रात तक आने की उम्मीद है।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.