जम्मू को भारत का अभिन्न अंग बनाकर ही लूंगा दम : मनोज सिन्हा

जम्मू को भारत का अभिन्न अंग बनाकर ही लूंगा दम : मनोज सिन्हा

– जल्द ही गाजीपुर से पटना तक होगा ग्रीन एक्सप्रेस-वे का निर्माण

– किनवार कीर्ति स्तंभ का जम्मू के उप राज्यपाल ने किया लोकार्पण

गाजीपुर। भांवरकोल ब्लॉक स्थित अयाचक भूमिहार ब्राह्मणों के किनवार वंश के आदि स्थल त्रिलोचन किनवार कीर्ति स्तंभ सरमाहडी के किनवार कीर्ति स्तंभ का लोकार्पण करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि। जो अपने पुरखों की विरासत को भूल जाता है, उसका अस्तित्व ही समाप्त हो जाता है। किनवार कीर्ति स्तंभ हजारों वर्ष पुराने इतिहास को याद करने और उससे प्रेरणा लेने के लिए एक स्तंभ के रूप में काम करेगा इसके माध्यम से आने वाली पीढ़ियां अनंत काल तक उनके विद्या शिक्षा और संस्कार को ग्रहण कर राष्ट्र निर्माण का कार्य करती रहेंगी। एलजी मनोज सिन्हा ने जम्मू कश्मीर का उल्लेख करते हुए कहा कि आजादी के 75 वर्ष के अवसर पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव के अवसर पर जम्मू कश्मीर में भी काफी बदलाव देखने को मिल रहा है। कश्मीरी पंडितों के आधे से अधिक मकान जो पूर्व में उनसे छीन लिए गए थे, वह अब खाली करा लिए गए हैं, तथा हमारे कार्यकाल में 170 मंदिरों को पुनः स्थापित किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपलब्धियों पर प्रकाश डालते हुए एलजी मनोज सिन्हा ने कहा कि, जब हम आजादी का शताब्दी वर्ष मना रहे होंगे उस समय का भारत एक स्वर्णिम भारत होगा 2014 से पूर्व और 2014 के बाद के भारत में काफी बदलाव देखने को आमजन को मिल रहा है। गाजीपुर से अपने लगाव को दर्शाते हुए उन्होंने कहा कि ‘मैं कहीं भी रहूं लेकिन गाजीपुर की 40 लाख जनता का प्रेम एवं अपनत्व मैं अपने में सदैव महसूस करता हूं।’ एक पल ऐसा भी आया जब वह भावुक भी हो गए। कुछ देर बाद उन्होंने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे भी गाजीपुर में ही समाप्त हो रहा है और केन्‍द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने हाल ही में घोषणा की है कि गाजीपुर से पटना तक ग्रीन एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश विकास का प्रतीक बनता जा रहा है। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हम पर जो विश्वास जताया है, मैं जम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाकर ही लौटूंगा। किनवार कीर्ति स्तंभ के उद्घाटन समारोह के विशिष्ट अतिथि एवं राजगुरु मठ शिवाला वाराणसी के पीठाधीश्वर स्वामी सहजानंद सरस्वती के शिष्य परंपरा के संत स्वामी अनंतानंद सरस्वती ने कहा कि ब्राह्मण वह है जो विद्या के बल पर समाज के हित में सर्व समाज के कल्याण हेतु राजा का मार्गदर्शन करें संस्था संस्था को निर्देशित करें जैसा चंद्रगुप्त को चाणक्य ने किया था। इस अवसर पर इस अवसर पर संस्‍थापक किनवार कीर्ति स्‍तंभ ई. अरबिंद राय ने उपराज्‍यपाल मनोज सिन्‍हा को अंगवस्‍त्रम प्रदान कर स्‍मृति चिन्‍ह भेंट किया। इस अवसर पर विधायक अलका राय, जिलाध्‍यक्ष भानूप्रताप सिंह, पूर्व जिलाध्‍यक्ष कृष्‍णबिहारी राय, पूर्व प्रार्चाय डॉ. मान्‍धाता राय, डा. आनंदशंकर सिंह, संतोष राय, पूर्व विधायक पशुपति राय, ब्‍लाक प्रमुख राहुल राय, ब्‍लाक प्रमुख अवधेश राय, ब्‍लाक प्रमुख मुन्‍ना राय, विनोद राय, पूर्व कुलपति अमरनाथ राय, मारकण्‍डेय राय, मनोज राय, ओमप्रकाश राय, राजेश राय पप्‍पू, केएन राय, हिमांशु राय आदि हजारो लोग उपस्थित थे। आये हुए अतिथियो का स्‍वागत ई. अरबिंद राय ने किया।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.