मऊ जिला अस्पताल में इलाज के अभाव में मरीज की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

मऊ जिला अस्पताल में इलाज के अभाव में मरीज की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

मऊ जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में रविवार को एक घायल बुजुर्ग महिला ने इलाज के अभाव में दम तोड़ दिया। आरोप है कि चिकित्सक तथा स्वास्थ्यकर्मी महिला को कोरोना संक्रमित बताकर इलाज से कन्नी काटते रहे। परिजनों ने इसको लेकर विरोध-प्रदर्शन किया। मऊ जिला अस्पताल में एक वृद्ध महिला को इलाज के लिए परिजन अस्पताल लेकर आये और अस्पताल के डॉक्टरों ने इलाज करने से मना कर दिया।ताजोपुर की रहने वाली जुदेश्वरी देवी के सर में चोट लगने के बाद परिजन इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आये। ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने इलाज करने की बजाए मरीज का कोरोना जांच कराने को कहकर इलाज में टालमटोल करते रहे। मरीज के परिजन घंटो अस्पताल की खाक छानते रहे। लेकिन डॉक्टर घायल मरीज को लेकर तमाशबीन बने रहे। लिहाजा इलाज़ के आभाव में स्ट्रेचर पर ही मरीज ने दम तोड़ दिया । मरीज के मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल परिसर में जमकर हंगामा शुरू कर दिया।

सीएमएस देते रहे गोलमोल जवाब
सीएमएस डॉ ब्रिज कुमार ने इस मुद्दे पर बताया कि हमारे यहां आए मरीज का इलाज करना हमारी जिम्मेदारी है। वही डॉक्टर द्वारा मरीज को कहीं और भेजे जाने के सवाल पर सीएमएस चुप्पी साध गए । बताते चलें कि जिला अस्पताल में खामियों की ख़बरें आये दिन सुनने को मिलती रहती है।

adminpurvanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *