Ghazipur live news

धर्म/आस्था

ढाई सौ वर्षीय प्राचीन रामलीला में सुलोचना को सती होने से रोका

ढाई सौ वर्षीय प्राचीन रामलीला में सुलोचना को सती होने से रोका

गाजीपुर। चिता सज गई थी सुलोचना को उसके पति मेघनाथ का कटा सिर रामा दल से प्राप्त हो गया था। पति के सिर के साथ पवहारी बाबा आदर्श रामलीला समिति यूसुफपुर खंडवा के मंच पर सुलोचना के रूप में अपना किरदार निभा रहे मुस्लिम समाज से तालुकात रखने वाले मूलचंद जैसे ही चिता की तरफ बढ़े दर्शकों में महिलाओं, पुरुषों और बच्चों की तरफ से आवाज उठाना शुरू हुई, सुलोचना को सती होने से रोको। इस कलंकित प्रथा को हम नाटय मंचों पर भी मूर्त रुप देने से रोकेंगे। लगभग ढाई सौ साल पूर्व से शादियाबाद थाना अंतर्गत यूसुफ पुर गांव में गांव के ही हिंदू, मुस्लिम व वह छोटे बड़े सभी वर्ग के कलाकारों द्वारा रामलीला का मंचन 10 दिनों तक किया जाता है। सोमवार को गांव की बुद्धिजीवी जनता ने सैकड़ों साल पूर्व समाप्त हुई सती प्रथा की बुराई को मंच के माध्यम से रोका। वैसे कतिपय लोगों ने परंपरा की बात कह कर सती होने का समर्थन किया किंतु ब
लव जिहाद में हिन्दू युवा वाहिनी के नेता का भाई बना मुसलमान, युवती को धोखा दे फिर से रचा रहा हिंदू युवती से विवाह!

लव जिहाद में हिन्दू युवा वाहिनी के नेता का भाई बना मुसलमान, युवती को धोखा दे फिर से रचा रहा हिंदू युवती से विवाह!

गाजीपुर। पहले धर्म परिवर्तन कर शादी की और अब पत्नी को दे रहा है धोखा। शादी और धोखे की ये कहानी है शाहीपुरा मोहल्ले की एक युवती का। आरोपों के घेरे में हिंदु युवा वाहिनी के जिला मंत्री रिंकू जायसवाल का छोटा भाई शुभम है। आरोप लगाने वाली लड़की एक खास धर्म से तालुक्क रखती है। लड़की के मुताबिक शुभम ने एक साल पहले उसके साथ निकाह किया। इसके लिए उसने अपना धर्म परिवर्तन भी किया। लेकिन अब वह धोखा दे रहा है और दूसरी शादी करने की फिराक में हैं। इस बाबत लड़की ने स्थानीय पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। शुभम से बन गया ‘अरमान’ पीड़ित लड़की आरोपी शुभम के मोहल्ले में ही रहती है। खबरों के अनुसार दोनों के बीच लंबे समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। लगभग साल भर पहले दोनों ने घर से भाग कर निकाह कर लिया। इसके लिए शुभम ने अपना धर्म परिवर्तन किया और अरमान बन गया। शादी के छह महीने तो दोनों परिजनों की नजरों से बचकर
तीन तलाक से मुक्ति के लिए काशी में मुस्लिम महिलाओं ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

तीन तलाक से मुक्ति के लिए काशी में मुस्लिम महिलाओं ने किया हनुमान चालीसा का पाठ

वाराणसी। तीन तलाक और हलाला जैसी कुप्रथा से आखिर मुस्लिम समाज की बहनों को कब मुक्ति मिलेगी यह फैसला न्यायपालिका के द्वारा आना अभी बाकी है, पर धर्म की नगरी काशी में बुधवार को बुद्ध पूर्णिमा के मौके पर मुस्लिम और हिन्दू महिलाओं ने संयुक्त रूप से पाताल पुरी मठ में हनुमान दरबार में हाजरी लगायी और 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ करके इस कुप्रथा से मुक्ति की कामना की। इस मौके पर संघ के स्टार प्रचारक इन्द्रेश कुमार भी मौजूद रहे। मजारों पर चादर चढ़ाती मुस्लिम महिलाएं यदि मंदिर में बुर्का लगाए नज़र आयें तो सभी के दिल में एक अजीब सा सवाल उठेगा, पर संकटमोचन की नगरी में बुद्ध पूर्णिमा के दिन पातळ पुरी मठ में स्थित भगवान हनुमान के मंदिर पर मुस्लिम महिला फाउंडेशन की सैंकड़ों मुस्लिम और हिन्दू महिलाओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। इस सम्बन्ध में मुस्लिम महिला फाउंडेशन की उपाध्यक्ष गुडिया ने बताया कि ” हनुमान
महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ के दरबार में उमड़े लाखों भक्त

महाशिवरात्रि पर बाबा विश्वनाथ के दरबार में उमड़े लाखों भक्त

वाराणसी। आज महाशिवरात्रि पर लाखों भक्तों ने बाबा विश्वनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई। दर्शन हेतु दूरदराज से आये भक्त कतारबद्ध रूप से रात से ही बेरिकेटिंग में लग चुके थे। सभी मंगला आरती के बाद बाबा दर्शन की आस में खड़े थे। देश के कोने-कोने से लोग बाबा दर्शन की अभिलाषा लिए पट खुलने का इन्तजार कर रहे थे। पट खुलते ही विविध मानोकामना लिए भक्त उमड़ पड़े। एक अनुमान के मुताबिक शाम तक करीब तीन लाख भक्तों ने बाबा क दर्शन पूजन किया। यह क्रम देर शाम तक जारी रहा। महाशिवरात्रि मंगला आरती बाबा के महाशिवरात्रि के दिन मंगला आरती में दूर दराज से आये भक्त पहुचे बाबा से अनेको ने मनोकामना मांगी और अपनी मनोकामना पूण कीआशा लिए दर्शन किए। बाबा दर्शन हेतु दो लाइने बनीं थी, एक ज्ञानवापी से चौक के तरफ से दूसरी लाइन ज्ञानवापी से गोदौलिया की तरफ से। जहां एक भक्तो की लाइन नीचीबाग छू रही थी दूसरी तरफ गोदौलिया से ढ
प्रधानमंत्री मोदी ने किया भगवान शिव की 112 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण

प्रधानमंत्री मोदी ने किया भगवान शिव की 112 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण

कोयंबटूर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाशिवरात्रि के अवसर पर कोयंबटूर के ईशा योग केंद्र में भगवान शिव की 112 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया। इस मौके पर भगवाश शिव की इस विशाल प्रतिमा का डिजाइन करनेवाले सद्गुरू जग्गी वासुदेव भी प्रधानमंत्री के साथ है। वहां पर देशभर से लाखों की तादाद में लोग जुटे हुए हैं। विश्व की सबसे विशाल प्रतिमा प्रधानमंत्री मोदी ईशा योग केन्द्र में मिलिट्री हैलीकॉप्टर से पहुंचे। वहां पर प्रधानमंत्री का स्वागत करने के लिए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलानीस्वामी और राज्यपाल विद्यासागर राव मौजूद थे। ईशा फाउंडेशन की एक विज्ञप्ति के मुताबिक विश्व की इस सबसे विशाल प्रतिमा की प्रतिष्ठा मानवता को आदियोगी शिव के अनुपम योगदान के सम्मान में की गई है। देशी तकनीक से तैयार पत्थर की जगह स्टील के टुकड़े जोड़कर देशी तकनीक से इसे तैयार किया गया है। नंदी की प्रतिमा को भी तिल के बीज, ह