Ghazipur live news

चर्चा

गाजीपुर में एससी/एसटी एक्ट पर और उग्र हुआ सर्व समाज, वापस नहीं होने पर करेंगे भूख हड़ताल

गाजीपुर में एससी/एसटी एक्ट पर और उग्र हुआ सर्व समाज, वापस नहीं होने पर करेंगे भूख हड़ताल

  गाजीपुर। सर्वोच्च न्यायलय द्वारा अनुसूचित जाति/जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के विरुद्ध वोट की भूखी केंद्र सरकार द्वारा 22 प्रतिशत लोगो के लिए 78 प्रतिशत लोगो के सम्मान को अध्यादेश ला कर सूली पर चढाने का काम किया है, ऐसा आरोप लगाते हुए 'अस्तित्व बचाओ आंदोलन' के लोग आज सड़क पर उतर गए। बवाल होने की संभावना को लेकर प्रशासन भी सतर्क था। चप्पे चप्पे पर पुलिस का पहरा था, परन्तु हाथों में मशाल लिए और कला कानून वापस लो के नारे लगाते हुए सर्व समाज के लोग क्षत्रिय महासभा के बैनर तले जुलूस निकाल राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन एसडीएम को सौपा। साथ की चेतावनी भी दे डाली कि यदि यह काला कानून वापस नहीं हुआ तो सर्व समाज भूख हड़ताल करेगा तथा 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा का बहिष्कार करेगा। गैर दलितों पर बढ़ेगा अत्याचार क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि वोट बैंक के लिए केंद्र सरकार
केंद्र सरकार पर भड़के गैर दलित संगठन, अस्तित्व बचाने उतरेंगे सड़को पर

केंद्र सरकार पर भड़के गैर दलित संगठन, अस्तित्व बचाने उतरेंगे सड़को पर

गाजीपुर। एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा एफआईआर दर्ज होते ही तत्काल गिरफ्तारी हेतु अध्यादेश के खिलाफ आज गैर दलित संगठनों ने जिला मुख्यालय पर जोरदार प्रदर्शन कर जिलाधिकारी समेत पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौपा। जिसमे इस अध्यादेश का विरोध किया गया, वंही अध्यादेश के विरोध में 10 अगस्त को सायं 4:30 पर गांधीपार्क से कचहरी तक मशाल जुलूस निकालने का निर्णय लिया गया। वोट की भूखी है सरकार क्षत्रिय महासभा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने कहा कि वोट बैंक की भूखी, अंधी सरकार द्वारा यह काला कानून लाया जा रहा है, जिसको लोकसभा में पारित भी किया जा चुका है। राज्यसभा में पारित होने के बाद यह कानून का रूप ले लेगा, जिसको कतई बर्दाश्त नही किया जाएगा। प्रश्न अब सवर्णों और पिछडो के अस्तिव का है, दलित प्रेम में अंधी सरकार 22.5% के चक्कर मे 77.5% के साथ घोर अन्याय करने पर आमादा
अस्तित्व बचाओ आंदोलन: सवर्ण तथा पिछड़े नेताओं ने खोला मोदी सरकार द्वारा लाये जा रहे अध्यादेश के खिलाफ मोर्चा

अस्तित्व बचाओ आंदोलन: सवर्ण तथा पिछड़े नेताओं ने खोला मोदी सरकार द्वारा लाये जा रहे अध्यादेश के खिलाफ मोर्चा

गाजीपुर। एससी/एसटी एक्ट के तहत तत्काल बिना जांच गिरफ्तारी रोकने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा लाये जा रहे अध्यादेश के खिलाफ जनपद के सभी सवर्ण और पिछड़े वर्ग के नेता आज एक मंच पर दिखे। सभी ने मोदी सरकार के इस तुगलकी फरमान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सभी ने एक स्वर में इस अध्यादेश का विरोध किया तो वंही वापस न होने पर आंदोलन की चेतावनी भी दे डाली। ज्ञात हो कि एससी/एसटी एक्ट के बढ़ते दुरपयोग को देखते हुए देश की सर्वोच्च न्यायपालिका ने जांच तक तत्काल गिरफ्तारी पर रोक लगा दी थी पर दलित वोट बैंक को साधने में लगी केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ अध्यादेश लाने का मन बना लिया है। संभवतः सोमवार या मंगलवार को यह अध्यादेश लोकसभा में पेश भी होगा। जानकारी मिलने पर सवर्ण तथा पिछड़े नेता एक साथ एक स्वर में विरोध पर उतर गये। इसी क्रम में आज शास्त्रीनगर स्थित
योगी मंत्रिमंडल से हो सकती है कईयों की छुट्टी, गाजीपुर को मिल सकता है मौका

योगी मंत्रिमंडल से हो सकती है कईयों की छुट्टी, गाजीपुर को मिल सकता है मौका

गाजीपुर। लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा अपने फ्रंटल संगठनों में नए चेहरों को मौका देने के बाद सरकार में भी कुछ नया करने का मन बना रही है। योगी सरकार के कई मंत्री कसौटी पर खरे हैं लेकिन, कुछ संगठन को पसंद नहीं तो कुछ मुख्यमंत्री को। यही वजह है कि एक बार फिर फेरबदल को लेकर यहां से लेकर दिल्ली तक सुगबुगाहट तेज हो गई है। मंत्रिमंडल में फेरबदल के लिए कई बार सक्रियता बढ़ी लेकिन, किसी न किसी वजह से यह टल गया। फिर यह बात आयी कि योगी सरकार के एक वर्ष पूरा होने के बाद कुछ मंत्री हटाये जाएंगे और कुछ विधायकों को समीकरण के हिसाब से मौका मिलेगा। पर, योगी सरकार के सवा साल बीत जाने के बाद भी कोई फेरबदल नहीं हुआ। विधानसभा का मानसून सत्र 15 अगस्त के बाद संचालित होने के संकेत मिले हैं। फिलहाल सत्र के हफ्ते भर ही चलने की बात है। सूत्रों का कहना है कि अगर मंत्रिमंडल में फेरबदल करना हुआ तो सत्र को भी
राजभवन के सामने दिनदहाड़े गार्ड की गोली मार कर हत्या, कैश वैन से लूटे 20 लाख

राजभवन के सामने दिनदहाड़े गार्ड की गोली मार कर हत्या, कैश वैन से लूटे 20 लाख

लखनऊ। मुख्यमंत्री आवास तथा राजभवन से चंद कदम की दूरी पर आज लखनऊ में बदमाशों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया। पॉश तथा सुरक्षित माने जाने वाले राजभवन के सामने से बैंक कैश वैन से 20 लाख रुपए लूटकर गार्ड की हत्या कर दी गई। बड़ी लूट तथा हत्या की सूचना पर डीजीपी ओपी सिंह के साथ सभी बड़े पुलिस अधिकारी मौके पर हैं। बदमाश ने चालक रामसेवक और कस्टोडियन उमेश को भी गोली मारी। रामसेवक के पेट और कस्टोडियन के पैर में लगी गोली। वारदात को अंजाम देकर बदमाश सफेद रंग की टीवीएस स्पोर्ट्स बाइक से हुआ फरार। मौके से दो कारतूस बरामद। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि बदमाशों के बारे में पुलिस के हाथ अहम सुराग लगे हैं। एसटीएफ समेत क्राइम ब्रांच और पुलिस की कई टीमें लगाई गई। घटना के चश्मदीद बहादुर प्रभात ने बताया कि बदमाश अकेला था और उन्होंने उसकी पिस्टल भी छीन ली थी, लेकिन बदमाश ने दूसरी पिस्टल तान दी, जिससे प्रभात के कदम
ग्रामीणों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने के कारण हुई थी रहबर की मौत, पोस्टमार्टम से हुआ खुलासा

ग्रामीणों द्वारा बेरहमी से पीटे जाने के कारण हुई थी रहबर की मौत, पोस्टमार्टम से हुआ खुलासा

अलवर। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया भले ही रकबर उर्फ अकबर की मौत पुलिस कस्टडी में होना मान रहे हों, लेकिन सच ये है कि रकबर की मौत ग्रामीणों की पिटाई से हुई थी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद यह बात सार्वजनिक हो गयी। रकबर की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार शरीर पर चोटों के सभी निशान पोस्टमार्टम से 12 घंटे पहले के हैं। रकबर का पोस्टमार्टम शनिवार दोपहर 12:45 बजे अलवर के सामान्य चिकित्सालय में हुआ, जबकि शुक्रवार रात 12:41 बजे पुलिस को नवल ने गोतस्करों के गायों को हरियाणा ले जाने की सूचना दी थी। रात करीब एक बजे पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। यानि पुलिस के पहुंचने से पहले ही रकबर से जानलेवा मारपीट हो चुकी थी। घसीट-घसीट कर बेरहमी से लाठी-डंडों से पीटा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार ग्रामीणों ने रकबर पर लाठी-डंडों से हमला कर उसे घसीट-घसीट कर पीटा। उसके शरीर पर 5-6 खरोंच और आधा दर्जन से अधिक गंभीर चोटों
भाजपा के किसान सम्मेलन से नदारत रहे किसान, कार्यकर्ताओ ने बचाई लाज

भाजपा के किसान सम्मेलन से नदारत रहे किसान, कार्यकर्ताओ ने बचाई लाज

गाजीपुर। भाजपा नेताओं की लोकप्रियता का अब यह आलम है कि आमजन अब उनको सुनने तक को तैयार नहीं है। लाज बचाने के लिए सरकारी महकमों से भीड़ बुलाई जा रही है। जी हां, हम बात कर रहे है, भाजपा द्वारा बंशीबाजार स्थित पैलेस में आयोजित किसान कल्याण सम्मेलन की। जिसमे दूर-दूर तक कोई किसान नजर नहीं आ रहे थे, वंही वक्ताओं का कभी किसानी से दूर दराज तक कोई सरोकार नहीं था। ज्ञात हो कि भारतीय जनता पार्टी द्वारा पूरे प्रदेश में 15 से 20 जुलाई के मध्य किसान कल्याण सम्मेलन प्रत्येक विधानसभा में आयोजित किया जा रहा है। जिसके तहत सदर विधानसभा के अंतर्गत किसान कल्याण सम्मेलन का आयोजन बंशीबाजार स्थित पैलेस में आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में सदर विधायक संगीता बलवंत उपस्थित रही। मौके पर भीड़ न उपस्थित होने के कारण आयोजकों ने आनन फानन में आंगनबाड़ी सेविका तथा आसपास के लोगो एवं कार्यकर्ताओ को इकट्ठा कर
पूर्व भाजपा विधायक कृष्णानंद राय के हत्यारोपी मुन्ना बजरंगी की जेल में गोली मार कर हत्या

पूर्व भाजपा विधायक कृष्णानंद राय के हत्यारोपी मुन्ना बजरंगी की जेल में गोली मार कर हत्या

गाजीपुर। माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के खासम-खास माने जाने वाले पूर्वांचल के कुख्यात डॉन प्रेम प्रकाश उर्फ मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या कर दी गई। आज पूर्व बसपा विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के आरोप में बागपत कोर्ट में मुन्ना बजरंगी की पेशी होनी थी। मुन्ना बजरंगी को रविवार झांसी जेल से बागपत लाया गया था। उसे तन्हाई बैरक में कुख्यात सुनील राठी ओर विक्की सुंहेड़ा के साथ रखा गया था। जेल में ही गोली मारकर हत्या कर दी गई। जेल में माफिया डॉन की हत्या से अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। बागपत जेल में तैनात संतरी के मुताबिक, वह सुबह 6 बजे जेल पास गस्त कर रहे थे, तभी लगातार कई गोली चलने की आवाज आई। कुछ देर बाद जानकारी मिली कि मुन्ना बजरंगी की हत्या हो गई। शव अभी जेल में ही है। अधिकारियों के आने के बाद भी निकल जाएगा शव।वहीं, डीएम ऋषिरेंद्र कुमा
बेसहारा बेटियों का सहारा बन रही नारी शक्ति सेवा संस्थान

बेसहारा बेटियों का सहारा बन रही नारी शक्ति सेवा संस्थान

गाजीपुर। बेटियों की सेवा में समर्पित जनपद की अग्रणी समाजसेवी संस्थान नारी शक्ति सेवा संस्थान ने आर्थिक रूप से कमजोर बेटी के निकाह में आर्थिक एवं शारीरिक सहयोग कर सकुशल संपन्न कराया। संस्था के सदस्यों ने दस हजार नगद एवं कुकर आदि सामान दे कर निर्धन मजदूर की बेटी के हाथ पीले करवाए। सदर कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत मिश्रबाजार मोहल्ले के रहने वाले अजीम पेशे से मजदूर है। उनके दो बेटे तथा दो बेटियाँ है। बड़ी बेटी सुल्ताना का निकाह उन्होंने 6 जुलाई को तय किया पर आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण उनको ख़र्च का भय सता रहा था। इस बात की जानकारी नारी शक्ति सेवा संस्थान के सदस्यों को हुई तो उन्होंने बिटिया के विवाह का जिम्मा उठाने का संकल्प लिया तथा दस हजार रूपये नगद तथा कुकर आदि सामान देकर बिटिया को विदा किया। संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्ष विभा पाल ने कहा कि मेरे जीते जी धनाभाव के कारण कोई बेटी, बहन कुवारी
भाजपा पर भड़की महबूबा, सेंधमारी करने पर शाह को धमकाया

भाजपा पर भड़की महबूबा, सेंधमारी करने पर शाह को धमकाया

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में बेशक बीजेपी और पीडीपी के बीच गठबंधन खत्म हो चुका है, सरकार गिर चुकी है लेकिन राजनीतिक बयानबाजी थमने के बजाए हर रोज बढ़ती जा रही है। अब पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार को चेतावनी दी है। मुफ्ती ने है कि अगर दिल्ली हस्तक्षेप करती है, हमारी पार्टी को तोड़ती है और सज्जाद लोन या किसी को भी मुख्यमंत्री बनाती है, तो इससे कश्मीरियों का भारतीय लोकतंत्र में विश्वास समाप्त हो जाएगा। दिल्ली द्वारा किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप को गंभीरता से लिया जाएगा। कांग्रेस का साथ नहीं एक निजी चैनल से बात करते हुए पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने पीडीपी और कांग्रेस के संभावित गठबंधन की खबर पर भी खुलकर बोला। मुफ्ती ने इन खबरों को आधारहीन बताते हुए कहा कि अगर ऐसा होता तो मैं इस्तीफा क्यों देती? जब हमारी सरकार गिरी, राज्यपाल ने मुझसे पूछा कि क्या मैं अन्य विकल्पों की ओर देख